कठुआ और उन्नाव गैंगरेप की घटना के बाद देश भर में आक्रोश है. आम लोगों के अलावा हिंदी सिनेमा के कलाकारों ने भी इस मुद्दे पर अपना गुस्सा जाहिर किया है. अब बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन का भी इन घटनाओं पर बयान आया है. फिल्म 102 नॉट ऑउट के सॉन्ग लॉन्च के मौके पर जब उनसे सवाल किया गया कि आप ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के ब्रांड एंबेसडर हैं. इन दिनों बेटियों के साथ हो रहे अपराधों ने देश को हिलाकर रख दिया है. इस बारे में आपका क्या कहना है. इसके जवाब में बिग बी ने दुखी मन से कहा, इस विषय में चर्चा करने से भी मुझे घिन आ रही है. ये सवाल न पूछो. इस बारे में बात करना भयावह है.Also Read - इन बॉलीवुड स्टार्स के पहले उड़ गए थे बाल, हेयर ट्रांसप्लांट करके अब नहीं आते पहचान में

Also Read - कारों के शौकीन हैं Amitabh Bachchan, देखें सबसे महंगी और शानदार गाड़ियों का क्लेक्शन

बता दें, अमिताभ बच्चन, पीएम नरेंद्र मोदी की सरकार के ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान की वकालत करते नज़र आते हैं. हाल ही में हिंदी सिनेमा की दिग्गज अभिनेत्री शबाना आज़मी ने भी इस मुद्दे पर कहा था, ‘सरकार की ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना के सफल होने के लिए हमारी बेटियों का जिंदा रहना जरूरी है.’ वहीं अभिनेत्री हुमा कुरैशी ने कठुआ गैंगरेप मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि यह एक दुखद और दहलाने देने वाली घटना है. इस घटना के जिम्मेदार लोगों को सजा मिलनी चाहिए. अगर हम समाज के रूप में एक आठ साल की बच्ची की सुरक्षा करने में सक्षम नहीं हैं, तो फिर यह बेहद शर्मनाक बात है. Also Read - Dilip Kumar Funeral LIVE: सुपुर्दे खाक हुए दिलीप कुमार, बिलख पड़ीं सायरा बानो

Hema-Malini

वहीं बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री व भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने ट्वीट करके कहा था कि जम्मू- कश्मीर के कठुआ जिले में सामूहिक दुष्कर्म के बाद मार डाली गई आठ वर्षीय बच्ची को न्याय दिलाने के लिए मीडिया से जबरदस्त समर्थन मिलना चाहिए और राष्ट्रीय स्तर पर विरोध प्रदर्शन होना चाहिए. ‘मैं मेनका जी (मेनका गांधी) से सहमत हूं कि दोषी साबित होने पर तत्काल मौत की सजा दी जान चाहिए और सभी दुष्कर्मों के लिए कोई जमानत या माफी नहीं मिलनी चाहिए.’

raazi1
बॉलीवुड में अपनी दमदार एक्टिंग के लिए पहचाने जाने वाली अभिनेत्री आलिया भट्ट ने कहा है कि जम्मू एवं कश्मीर के कठुआ जिले में आठ साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या की वीभत्स घटना से वह बहुत गुस्से में और दुखी हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें आशा है कि उसे न्याय मिलेगा. दुष्कर्म-हत्या की घटना पर आलिया ने कहा, “यह बहुत ही अशोभनीय, शर्मनाक और भयानक घटना है. एक लड़की, एक महिला और एक व्यक्ति के तौर पर और देश के एक नागरिक के रूप में मुझे बहुत बुरा लगा और दुख हुआ कि इस तरह की घटना हुई है.”

आरोपियों के समर्थन में निकली रैली. फोटो साभार- डीएनए

गौरतलब है कि कठुआ की आठ साल की बच्ची का 10 जनवरी को अपहरण कर लिया गया था. बच्ची को एक मंदिर में बंधक बनाकर रखा गया.इस दौरान उसे भूखा रखा गया और नशीली दवाइयां दी गईं और बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया.इसके बाद बच्ची की हत्या कर दी गई.बच्ची का शव 17 जनवरी को रसाना गांव के जंगल से मिला था.