Trending News Today 13 March: बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) एक्टिंग के साथ-साथ साहित्य, कहानियां और कविताओं में भी खासा दिलचस्पी रखते हैं. सोशल मीडिया पर अक्सर बिगबी अपने पोस्ट के ज़रिए हिंदी भाषा में कुछ पंक्तियां साझा करते रहते हैं. इस सदाबहार एक्टर ने आज के ज़माने के हिसाब से ख़ुद को ढाल लिया है और इंटरनेट पर भी ख़ुद को एक्टिव रखने का फैसला किया है. हाल ही में जहां पूरा देश कोरोना वायरस से बचाव में लगा हुआ है वहीं अमिताभ बच्चन ने भी एक कविता के जरिए लोगों से कोरोना का डट कर सामना करने को कहा है. Also Read - इस टॉप मॉडल पर पड़ी कोरोना की मार, समंदर किनारे फंसी तो ताबड़तोड़ न्यूड फोटो शेयर लगाई गुहार...

बता दें, अगर आप भी इस वायरस को लेकर परेशान हैं तो बाकी सब छोड़कर ये जान लीजिए कि ये फैलता कैसे है. आखिर वो क्‍या तरीका है जिससे ये एक से सैकड़ों को मिनटों में अपना शिकार बना लेता है.

– इस वायरस से संक्रमित व्‍यक्ति छींकता है और आप उसके आसपास हैं तो ये आपकी आंखों, नाक या मुंह के माध्‍यम से सीधे शरीर में प्रवेश कर जाता है. आप तब प्रभावित नहीं होते जब आप संक्रमित व्‍यक्ति से 2 मीटर दूर हों. इससे पास हुए तो खतरे की जद में हैं.

– अगर आपके आसपास कोई ऐसा है जो छींक रहा हो तो उसे मास्‍क यूज करने को कहें.

– इससे बचने के लिए भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से बचें. क्‍योंकि वहां कौन कोरोनावायरस से पीड़ित है, आप नहीं जानते.

– कई बार ऐसा होता है कि व्‍यक्ति इस वायरस से संक्रमित होता है पर उसमें लक्षण जल्‍दी नहीं उभरते. इसलिए भीड़ से दूर रहें.

– संक्रमित व्‍यक्ति की लार से ये फैलता है. यानी उसके प्रयोग किए गए बर्तन में या कप में आपने खाया-पीया तो आप भी संक्रमित हो जाएंगे.

– आप केवल फेस मास्‍क पहनकर इस वायरस से नहीं बच सकते. अगर आपके ऑफिस, घर, आसपड़ोस, यात्रा के दौरान किसी संक्रमित व्‍यक्ति द्वारा छुए गए दरवाजों, दरवाजों के हैंडल, पेन, कंप्‍यूटर, माउस, फोन, डिजिटल डिवाइस, टिश्‍यू पेपर, लिफ्ट बटन, सीढ़ियों के हैंडल को आप छू देते हैं तो ये उस जगह से आपके शरीर में प्रवेश कर जाएगा.

– यही नहीं, संक्रमित व्‍यक्ति ने किसी जगह को छुआ और आपने उस जगह को छूकर फिर अपने चेहरे, आंखें को छुआ तो आप तुरंत बीमार होंगे. इन्‍हीं हाथों से आपने अपने किसी परिवारजन को छू लिया तो वो भी संक्रमित हो जाएगा.

– आपको जानकर हैरानी होगी कि संक्रमित व्‍यक्ति जिस चीज को छू देता है उस जगह पर ये वायरस अगले 48 घंटे तक जीवित रहता है. उस समय में जो-जो इसे छुएगा वो संक्रमित होता जाएगा.

ये काम करते रहें

– नियमित अंतराल पर हाथों को धोते रहने से आप इस वायरस की चपेट में आने से बच सकते हैं. जब भी हाथ धोएं तो कम से कम 20 सेकेंड तक इन्‍हें साफ करें.

– हाथों को धोते हुए दोनों तरफ की सतह साफ करें. ऊंगलियों के बीच में, नाखूनों के नीचे की ओर साफ करें.

– अगर आपको कफ है तो उसे टिश्‍यू में डालकर डस्‍टबिन में डालें. एक दिन से ज्‍यादा एक मास्‍क को ना पहनें. अगर आप लंबे समय तक एक ही मास्‍क पहने रहते हैं तो इसमें बैक्‍टीरिया पनपने लगते हैं.

– जो भी बीमार हैं उनके कांटेक्‍ट में आने से बचें. खासतौर पर उनके द्वारा प्रयोग किए गए पर्सनल चीजों, भोजन, बर्तन, कप, तौलिए को प्रयोग ना करें.

– लगातार अपनी आंखों, कान और नाक को छूने से बचें.

– जब भी आप बीमार हों तो तुरंत डॉक्‍टर की सलाह लें. इसमें बिल्‍कुल देरी ना करें.