नई दिल्ली: फिल्म उद्योग में उल्लेखनीय योगदान के लिए हिंदी फ़िल्म जगत की हस्‍ती अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के सम्मान से 29 दिसंबर को नवाजा जाएगा. सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा है कि अस्वस्थ होने के कारण सोमवार को राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार समारोह में शिरकत करने में असमर्थ रहे हिंदी फ़िल्म जगत के महानायक अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के सम्मान से 29 दिसंबर को नवाजा जाएगा.

जावडेकर ने बताया कि बच्चन को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 29 दिसंबर को एक संक्षिप्त समारोह में दादा साहब फाल्के पुरस्कार प्रदान करेंगे. साल 2018 का दादा साहब फाल्के सम्मान फिल्म उद्योग में उल्लेखनीय योगदान के लिए हिंदी फ़िल्म जगत के महानायक 77 वर्षीय अमिताभ बच्चन को दिया जाना था, लेकिन बच्चन अस्वस्थ होने के कारण समारोह में शिरकत नहीं कर सके. 2017 में यह पुरस्कार दिवंगत अभिनेता विनोद खन्ना को दिया गया था.

जावडेकर ने बताया कि राष्ट्रपति आज राजधानी से बाहर हैं इसलिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार विजताओं के सम्मान में 29 दिसंबर को राष्ट्रपति भवन में एक समारोह आयोजित किया गया है. उसी दौरान बच्चन को भी सम्मानित किया जाएगा.

बच्चन ने रविवार को ही ट्वीट कर बीमार होने के कारण सम्मान ग्रहण करने के लिए दिल्ली पहुंचने में असमर्थता व्यक्त की थी. उन्होंने ट्वीट किया था, ”बुखार है… ! यात्रा की इजाजत नहीं है…दिल्ली में कल राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में शामिल नहीं हो पाउंगा…बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है…मुझे अफसोस है….”

1969 में शुरू हुए दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का नाम धुंडीराज गोविंद फाल्के के नाम पर रखा गया है, जिन्हें भारतीय सिनेमा का जनक कहा जाता है. इस पुरस्कार के तहत एक स्वर्ण कमल, एक शॉल और 10,00,000 रुपए नकद प्रदान किए जाते हैं. परंपरागत रूप से राष्ट्रीय पुरस्कार, विजेताओं को राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है. उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सोमवार को विजेताओं को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्रदान किए.