अभिनेता अर्जुन कपूर, जो 26 जून को 34 साल के हो जाएंगे, उनका कहना है कि वह फिल्म जगत में स्टारडम के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह से जान कर आए थे.निर्माता बोनी कपूर के बेटे अर्जुन कपूर परिवार के सदस्यों को शोबिज जगत के अंधकार पक्ष और चमकीले पक्ष का सामना करते हुए देख बड़े हुए हैं.

 

View this post on Instagram

 

Warrior mode on !!! #panipat

A post shared by Arjun Kapoor (@arjunkapoor) on

अभिनेता की आगामी फिल्म ‘पानीपत’ है.फिल्म जगत में रहते हुए इसके फायदे नुकसान का सामना कर रहे 33 वर्षीय अर्जुन ने कहा, “मैं उस पेशे में हूं, जहां मैं बड़ा हुआ हूं, मैं हमेशा से इसके फायदे नुकसान जानता था. मैंने इसे अपने परिवार में पहले ही देख लिया था. यह एक सुंदर पेशा है.”

अर्जुन ने 2003 में निखिल आडवाणी की ‘कल हो न हो’ में एक सहायक निर्देशक के रूप में फिल्म उद्योग में काम करना शुरू किया. इसके साथ ही उन्होंने ‘सलाम-ए-इश्क: ए ट्रिब्यूट टू लव’ में भी आडवाणी के सहायक निर्देशक के तौर पर रहे. वह ‘नो एंट्री’ और ‘वांटेड’ में अपने पिता के साथ सहयोगी निर्माता रह चुके हैं.

(इनपुट आईएनएस)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.