बॉलीवुड की दिग्गज गायिका आशा भोसले ने अपने दशकों लंबे करियर में कई अभिनेत्रियों को अपनी आवाज दी है, लेकिन उन्हें इन सभी में हेलन सबसे ज्यादा पसंद हैं. Also Read - 'क्राइम पेट्रोल' फेम इस एक्ट्रेस ने की आत्महत्या, सोशल मीडिया पर लिखी रूलाने वाली बात

वह मुस्कुराते हुए कहती हैं, “वह इतनी खूबसूरत थी कि जिस पल वह कमरे में आती थी, मैं गाना रोककर उन्हें ही देखती रहती थी, बल्कि मैं तो उनसे अनुरोध करती थी कि जब मैं रिकॉडिर्ंग करूं, तो वह अंदर न आएं! क्या आप उस मशहूर कहानी के बारे में जानते हैं, जब मैंने हेलन को बताया था कि अगर मैं लड़का होती, तो उनके साथ भाग कर शादी कर ली होती! यह सच है.” Also Read - सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए जारी किया नंबर, बिहार के सिवान में मूर्ति बनाने की तैयारी

प्रख्यात गायिका ने बुधवार को अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल के साथ डिजिटल क्षेत्र में कदम रखा. सन् 1946 में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी और काफी लंबे समय तक उन्होंने अपना काम जारी रखा. अब वह 86 साल की हैं और अपने इन्हीं सारे अनुभवों को वह अपने चैनल के माध्यम से साझा करेंगी. Also Read - Lockdown 4.0: जानें कब खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, क्या है गृह मंत्रालय का ताजा आदेश

इस नए उद्यम के बारे में बात करते हुए राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता इस गायिका ने को बताया, “मैंने ओपी नैय्यर, खय्याम साहब, शंकर-जयकिशन जैसे कई दिग्गजों द्वारा लिखित और रचित गीत गाए हैं. इन्हें आज भी याद किया जाता है, जो कि अच्छी बात है, लेकिन मैं यह भी चाहती हूं कि आज के जमाने के गीतकार, संगीतकार और म्यूजिक डायरेक्टर्स भी आगे आए और संगीत बनाने के अवसर को हासिल करें. मैं उन्हें प्रोत्साहित करना चाहूंगी, तो मैं इस चैनल में अपने अनुभवों को साझा करूंगी कि हमने अपनी जगह बनाने के लिए किस तरह से संघर्ष किया.

मुझे यकीन है कि इन्हें जानकर वे भी प्रेरित होंगे. आर.डी. बर्मन के कुछ ऐसे गीत आज भी मेरे पास हैं, जो रिलीज नहीं हो पाए. मैं उन्हें आहिस्ता-आहिस्ता जारी करूंगी. मैं इन्हें अपने प्रशंसकों संग साझा करना चाहती हूं.”

आशा भोसले ने 13 मई को अपने यूट्यूब चैनल को लॉन्च किया.गीत 14 अलग-अलग भाषाओं में है, और आशा ने संस्कृत में गाया है. उनका कहना है, “भारत की कई भाषाएं संस्कृत से पैदा हुई हैं.” उन्होंने आगे कहा, “मैंने अपने हिस्से को एक फोन पर रिकॉर्ड किया और इसे श्रीनिवास, शंकर महादेवनजी और संजय टंडनजी द्वारा चलाए जा रहे एक सेंट्रल कलेक्शन स्टेशन पर अपलोड किया, जिन्होंने फिर रिकॉडिर्ंग की प्रक्रिया पूरी की और इसे एक गाने के रूप सजाया. बहुत थकाऊ काम रहा, लेकिन प्रयास इसके लायक है.” गाना 17 मई को रिलीज होगा.

(इनपुट एजेंसी)