Bhojpuri Gana: यूपी बिहार में होली के त्योहार को बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है. यहां फाल्गुन के महीने के शुरू होते ही लोग होली के रंग में रंगने लगते हैं. चारो तरफ होली व फाल्गुन के भोजपुरी गाने बजने लगते हैं. फाल्गुन के ये गाने क्लासिकल म्यूजिक की श्रेणी में आते हैं. आज हम आपको फाल्गुन के गाने के बारे में बताने वाले हैं. फाल्गुन के दौरान इन गानों के बगैर होली का त्योहार अधूरा सा लगता है.

ये हैं 5 फाल्गुन के बेहतरीन गानें-

1- फागुन के लहर में (Fagun Ke Lahar Me)

इस गाने को मशहूर भोजपुरी लोक गायिका कल्पना ने गाया है. इस गाने के बोल लिखा है सुमित सिंह चंद्रवंशी ने और गाने को अजय सिंह ने म्यूजिक दिया है. इस गाने को लोग खूब पसंद कर रहे हैं.

2- फाल्गुन में पियवा- लाल अबीर (Lal Abeer)

होली के अवसर पर जोगीरा प्रेमियों का यह सबसे पसंदीदा गाना है. इस गाने को रितेश पांडे (Ritesh Pandey) ने गाया है. इस गाने के बगैर होली मानों फीकी पड़ जाती है. होली के अवसर पर आप इस गाने से अछूते नहीं रह सकते हैं.

3- लगाके मर जाऊंगा (Lagake Mar Jaunga)

फागुन महीने के दौरान कुछ गायकों के गानों को खास तवज्जो दी जाती हैं. ऐसे में पवन सिंह का नाम आना तय है. पवन सिंह का यह गाना काफी शानदार है. दर्शकों की तरफ से इस काफी प्यार भी मिल चुका है. इस गाने को मनोज मतलबी और गोविंद विद्यार्थी ने लिखा है.

4- फागुनवा में रंग रस रस बरसे (Phagunva me rang ras ras barse)

मालिनी अवस्थी का नाम भोजपुरी लोकगायिका के रूप में सबसे उपर लिया जाता है. मालिनी अवस्थी के इस गाने को दर्शकों द्वारा काफी सराहना मिल चुकी है. फागुन महीने में इस गाने के बगैर त्योहार फीका सा लगता है.

5- फागुन मास (Fagun Maas)

पिचकारी के पूजा एलब्म का फागुन मास गाने को रितेश पांडे ने गाया है. रितेश पांडे भोजपुरी गायकी और सिनेमा की दुनिया में सबसे तेजी से उभरते हुए सितारे हैं. इस गाने को रितेश पांडे और वर्षा तिवारी ने गाया है. फागुन के दौरान इस गाने को चारों ओर सुना जा सकता है.