बिग बॉस के घर में अर्शी खान का जलवा कायम है. अर्शी अपनी अदाओं से सबको दीवाना बना रहीं हैं. शो में पब्लिसिटी के लिए अर्शी कुछ भी कहती और करती रहती हैं. एक एपिसोड में तो उन्होंने ऐसा कुछ कह दिया था कि उनके मां-बाप को अब सफाई देनी पड़ रही है. जी हां, अर्शी ने कुछ दिन पहले कहा था कि उनके दादाजी भोपाल के सबसे करैक्टरलेस आदमी थे और उन्होंने 18 शादियां की थी. अर्शी के बातों से ना केवल बिग बॉस के घर के अंदर के सदस्य हैरान हुए बल्कि फैन्स के भी होश उड़ गए. अर्शी की बातों पर अब उनके माता-पिता ने सफाई दी है.Also Read - 'बिग बॉस 13' के फिनाले में शामिल होंगे रोहित शेट्टी, करेंगे 'खतरों के खिलाड़ी' का प्रमोशन

एक लीडिंग वेबसाइट से बात करते हुए अर्शी खान के पिता ने कहा कि वो पब्लिसिटी के लिए अपने ही परिवार का नाम बदनाम कर रहीं हैं. अर्शी के पिता अरमान खान का कहना है कि उनके पिता यानी अर्शी के दादाजी ने सिर्फ दो शादियां की थी. इतना ही नहीं अर्शी ने शो में ये झूठ भी कहा कि वो असल में अफगानिस्तान से हैं जिसपर अर्शी के पिता ने कहा कि उनके पिता अंग्रेजी हुकूमत में भोपाल की सेंट्रल जेल में जेलर थे. यानी वो भारतीय ही थे. उनका पूरा परिवार भोपाल में ही रहता है. Also Read - फिर रोमांटिक हुआ बिग बॉस का माहौल, सिद्धार्थ ने शहनाज संग किया रोमांटिक डांस

Bigg Boss 11 timing may change because of Puneesh-Bandagi romance | बंदगी और पुनीश का हद पार रोमांस पड़ा बिग बॉस मेकर्स को भारी…अब 10:30 बजे नहीं आएगा शो

Bigg Boss 11 timing may change because of Puneesh-Bandagi romance | बंदगी और पुनीश का हद पार रोमांस पड़ा बिग बॉस मेकर्स को भारी…अब 10:30 बजे नहीं आएगा शो

Also Read - बिग बॉस 13: सलमान खान के शो से बेघर हुईं दलजीत कौर, लगाया ये बड़ा आरोप

अर्शी खान हमेशा से खुद को मॉडल ही बताती आई हैं. उन्होंने कभी नहीं बताया कि वो पहले क्या किया करती थी. और अब इस बात का खुलासा भी अर्शी के परिवार वालों ने कर दिया है. अर्शी खान ने मेयो कॉलेज में फीजियोथेरेपी की पढ़ाई की है. उन्होंने 2005 लेकर 2011 तक पढ़ाई की. उनका कोर्स साढ़े चार साल का था. खबर के अनुसार अर्शी ने पिता के दबाव में पढ़ाई की. वो हमेशा से मॉडल ही बनना चाहती थी.

पढ़ाई के बाद अर्शी ने दो साल तक रॉयल मार्किट स्तिथ एलबीएस नर्सिंग होम में नौकरी की लेकिन आखिरकार उन्होंने इस नौकरी को भी छोड़ दिया और 2014 में वो मुंबई अपने सपनो को पूरा करने चली आई.

चलिए देखते हैं आने वाले वक़्त में किस-किस का भांडाफोड़ होता है.