बॉलीवुड के माचोमैन ऋतिक रोशन 10 जनवरी को अपना 44वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं. ऋतिक के लुक, स्टाइल, डांस को लोग कॉपी करते हैं. उनकी बेहतरीन एक्टिंग और पर्सनालिटी की वजह से वह फैन्स के दिलों में राज करते हैं. आइए जानते हैं इस खास मौके पर जानते हैं उनकी जिंदगी की बेहद खास बातें.

ऋतिक का जन्म मुंबई के पंजाबी हिन्दू परिवार में हुआ. उनका असली नाम ऋतिक नागरथ है. उनके पिता राकेश रोशन जानेमाने फिल्मकार और अभिनेता हैं, जबकि उनके दादा रोशन ने संगीत के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दिया है. उनकी मां पिंकी फिल्म निर्माता और निर्देशक जे ओम प्रकाश की बेटी हैं. ऋतिक शुरुआत में बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल गए. वहांकी अपनी पढाई ख़त्म करने के बाद उन्होंने बी.कॉम की डिग्री भी हासिल की.

ऋतिक को बचपन से ही एक्टिंग का शौक था. महज 6 साल की उम्र में ऋतिक पर्दे पर नजर आए थे. 12 साल की उम्र में 1986 में आई फिल्‍म “भगवान दादा” में बतौर बाल कलाकार अभिनय किया था, जिसमें उनके डैडी राकेश रोशन भी थे. उन्होंने बतौर बाल कलाकार आशा, आपके दीवाने, आसपास और भगवान दादा जैसी फिल्मों में काम किया.

बचपन में कुणाल कपूर और उदय चोपड़ा रितिक के क्‍लासमेट थे. अभिषेक बच्‍चन, फरहान अख्‍तर भी उनके बचपन के दोस्‍त हैं

ऋतिक रोशन ने अभिनेता संजय खान की बेटी सुजैन खान से 20 दिसंबर 2000 को शादी की. ऋतिक, सुजैन को 12 साल की उम्र से जानते थे. दोनों का फ्रेंड सर्कल भी लगभग एक ही था. ऋतिक और सुजैन को 2006 में रेहान और 2008 में रिधान नामक बच्चे हुए. लेकिन 17 सालों का यह रिश्ता 13 दिसंबर 2013 को टूट गया, ऋतिक ने खुद इस बात की घोषणा की, की अब वो और सुजैन अलग होना चाहते हैं.

बचपन से ही उन्‍हें हकलाने की समस्‍या थी जो टीन एज में आकर बढ़ गई. एक समय था कि वे एक वाक्‍य तो क्‍या, एक शब्‍द भी ठीक से नहीं बोल पाते थे.

बतौर एक्टर ऋतिक ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरूआत साल 2000 में अपने पिता राकेश रोशन के बैनर तले बनी रोमांटिक फिल्म ‘कहो ना प्यार है’ से की. फिल्म में ऋतिक और अमीषा पटेल की जोड़ी को दर्शकों ने बेहद पसंद किया. फिल्म में ऋतिक ने डबल रोल निभाया था. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई. अपनी पहली हीं फिल्म के लिये ऋतिक को बेस्ट एक्टर का फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला.

एक फिल्म के लिए सबसे ज्यादा 92 पुरस्कार जीतने के लिए इसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज है. बहुत कम ही लोग जानते हैं कि ऋतिक का डेब्‍यू प्रीति जिंटा के साथ शेखर कपूर की “फिल्‍म तारा रम पम पम” से होना था जो बाद में कैंसिल हो गई.

2000 में ही ऋतिक की फिजा और मिशन कश्मीर जैसी फिल्में रिलीज हुई. दोनो हीं फिल्मों में ऋतिक ने अपनी रोमांटिक इमेज में बदलाव लाते हुए संजीदा अभिनय से दर्शकों का दिल जीत लिया. फिजा के लिये ऋतिक बेस्ट एक्टर के फिल्मफेयर अवॉर्ड के लिये नॉमिनेट किये गये.

2003 में ऋतिक रोशन को एक बार फिर से अपने पिता की फिल्म कोई मिल गया में काम करने का मौका मिला. सांइस नैचुरल थ्रिलर इस फिल्म में ऋतिक रोशन ने अपने दमदार अभिनय से दर्शकों का दिल जीत लिया. इस फिल्म के लिये ऋतिक को दूसरी बार बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड दिया गया.

2006 ऋतिक रोशन के कैरियर का अहम साल साबित हुआ. इस साल उनकी धूम 2 और क्रिश जैसी सुपरहिट फिल्में आयीं. यश राज बैनर तले बनी धूम के सीक्वल धूम 2 में ऋतिक रोशन ने नकारात्मक किरदार निभाकर दर्शकों को रोमांचित कर दिया

रितिक ने अपने 17 साल के करियर में केवल 30 फिल्‍में की हैं. अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय, शाहरुख खान और सलमान खान के बाद वह पांचवे बॉलीवुड स्टार हैं, जिनकी मैडम तुसाद के प्रसिद्ध संग्रहालय में मोम प्रतिमा स्थापित की गई है.

2012 में ऋतिक रोशन की फिल्म अग्निपथ रिलीज हुयी. यह फिल्म 1990 में रिलीज अमिताभ बच्चन की फिल्म अग्निपथ की रिमेक थी. फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुई.

पहली फिल्म कहो न प्यार है के लिए ऋतिक रौशन को बेस्ट एक्टर का फिल्मफेअर अवार्ड मिला. 2003 में रिलीज हुई फिल्म कोई मिल गया ने भी ऋतिक को बेस्ट एक्टर का फिल्मफेअर अवार्ड दिलाया.

इसके बाद लक्ष्य, क्रिश और धूम 2 के लिए भी उन्हें बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला. तो फिल्म जोधा अकबर के लिए फिल्मफेअर के अलावा गोल्डन मिंबर में अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के ख़िताब से नवाज़ा गया.