बॉलीवुड में 70-80 के दशक में अपनी अदाकारी और बेहतरीन डांस की बदौलत जंपिंग जैक का खिताब पानेवाले हैंडसम मैन जितेंद्र का जन्म 7 अप्रैल 1942 को अमृतसर में एक बिजनेस फैमिली में हुआ था। जितेंद्र का सही नाम रवि कपूर है।200 फिल्मों में बेहतरीन अदाकारी करनेवाले जितेंद्र को सबसे पहला ब्रेक दिया था मशहूर फिल्मकार वी शांताराम ने।उस फिल्म का नाम था ‘गीत गाया पत्थरों ने’।

जितेंद्र के फ़िल्मी करियर में जीने की राह, मेरे हुजूर, फर्ज, हमजोली, कारवां, धरमवीर, परिचय, खुशबू, तोहफा और हिम्मतवाला कामयाब और यादगार फिल्मों में शुमार की जाती हैं।यह भी पढ़ें: Birthday Special: फिर याद आए ‘काका’, राजेश खन्ना के जन्मदिन पर जानिए उनके ज़िन्दगी की बेहद खास बातें

जब जब जितेंद्र के करियर की बात निकलती है तो साथ में उनकी प्रेम कहानियों की भी याद आ ही जाती है। अपने करियर के दौरान जम्पिंग जैक का नाम इतनी हसीनाओं से जुड़ा की उन्हें लेडीज मैन के नाम से जाना गया।

जितेंद्र शोभा कपूर को बचपन से प्यार करते थे-

शोभा कपूर जब 14 साल की थीं तब जितेंद्र को उनसे प्यार हो गया था। उस वक्त जितेंद्र बॉलीवुड के स्टार नहीं थे। जब जितेंद्र बॉलीवुड में अपनी किस्मत आज़मा रहे थे उसी वक्त शोभा ब्रिटिश एयरवेज में कम कर रही थीं। जॉब की वजह से शोभा को अक्सर विदेश में रहना पड़ता था और वो चाह कर भी अपने प्यार यानि जीतू को नहीं मिल पा रही थीं।

4

जितेंद्र को कामयाबी हासिल होने के बाद 13 अप्रैल 1973 को दोनों जीतू और शोभा की शादी की डेट फिक्स हुई थी। लेकिन जितेंद्र के पिता की तबियत खराब होने की वजह से दोनों की शादी टल गई। लेकिन कई मुसीबतों का सामना करते हुए आखिरकार 18 अक्टूबर 1974 को जितेंद्र और शोभा शादी के बंधन में बंध गए।

शोभा को छोड़ हेमा मालिनी के साथ शादी करनेवाले थे जितेंद्र-

कहा जाता है 1974 के दौर में एक्ट्रेस हेमा मालिनी पर कई बॉलीवुड स्टार मरते थे। संजीव कुमार, धर्मेंद्र और जितेंद्र भी हेमा को चाहते थे। कहा यह भी कहा जाता है की संजीव कुमार ने जितेंद्र के हाथों को हेमा को अपने प्यार का पैगाम भेजा था, लेकिन संजीव का पैगाम लेकर गए जितेंद्र खुद हेमा से प्यार में पागल हो गए थे।

उसी दौर में जितेंद्र ने हेमा के साथ वारिस (1969), भाई हो तो ऐसा (1972), गरम मसाला (1972), गहरी चाल (1973) जैसी फिल्मों में काम कर चुके थे। हेमा धर्मेंद्र को चाहती थी लेकिन धर्मेंद्र शादीशुदा होने की वजह से हेमा को कमिटमेंट नहीं कर पा रहे थे।

तभी जितेंद्र ने हेमा को प्रपोज़ किया और हेमा भी मान गई थी। दोनों की शादी होनेवाली थी लेकिन धर्मेंद्र और शोभा ने शादी को रोक दिया। इसके अगले साल यानि 18 अक्तूबर 1974 को जीतू ने शोभा से शादी की थी

जीतेन्द्र श्रीदेवी के प्यार के भी हुए खूब चर्चे-

हेमा के बाद जीतू का नाम जुड़ा उस दौर की उभरती अदाकारा श्रीदेवी के साथ। साउथ के बड़े बैनर पद्मालय मूवीज के लिए काम करने के बाद जीतू एक्ट्रेस श्रीदेवी को बॉलीवुड में प्रमोट करने के लिए उमकी खूब मदद की।यह भी पढ़ें: अनिल कपूर हुए 59 साल के, जानिए एवरग्रीन अनिल कपूर के ज़िन्दगी की अनसुनी बातें

1983 में जीतू और श्रीदेवी ने मवाली, जस्टिस चौधरी, जानी दोस्त, हिम्मतवाला जैसी फिल्मे साथ की। उस वक्त छपी ख़बरों के मुताबिक शोभा कपूर को जीतू और श्रीदेवी की बढती नजदीकियां बेहद खल रही थीं। शोभा ने जीतू को वार्निंग दी की अगर वो श्रीदेवी को ऐसेही प्रमोट करते रहे थो वो एकता और तुषार के साथ घर छोड़ देंगी। तब कहीं जाकर जीतू ने श्रीदेवी को प्रोमोट करना बंद किया।

जया प्रदा के साथ भी जुड़ा जितेंद्र का नाम-

श्रीदेवी के बाद जितेंद्र यह साबित करना चाहते थे की वो किसी को भी स्टार बना सकते हैं। यही वजह रही की उन्होंने जया प्रदा को प्रमोट करना शुरू किया।

 

हालाँकि उस दौर में श्रीदेवी और जया प्रदा ने मवाली, तोहफा और मकसद जैसी फिल्मे की थीं। लेकिन कहा जता है की दोनों के बीच इतनी ज़बरदस्त दुश्मनी थी की दोनों एक दुसरे का चेहरा भी देखना पसंद नहीं करती थीं।

अपने दौर की कई सुपरस्टार एक्ट्रेस के साथ नाम जुड़ने के बावजूद जीतू और शोभा का रिश्ता बरक़रार रहा और आज दोनों अपने बेटी बेटे एकता और तुषार कपूर के साथ बेहद खुश हैं। आज जंपिंग जैक जीतू का 74 वां जन्मदिन है इस खास मौके पर उन्हें india।com परिवार की ओर से ढेरों शुभकामनाएं।