Gulzar Birthday Special: तुझसे नाराज नहीं जिंदगी, हैरान हूं मैं..तेरे मासूम सवालों से परेशान हूं मैं.. इस गाने को तो आपने सुना ही होगा. प्रसिद्ध गीतकार गुलजार ने ही इसे दुनिया से रूबरू करवाया था. गुलजार नाम सुनते ही दिल में एक अलग किरदार की छवि बन जाती है. एक शायर, लेखक, गीतकार, निर्माता, निर्देशक जैसी कई पहचान उनके नाम के साथ जुड़ी हुई हैं. ऐसे में शायर, लेखक, गीतकार, निर्माता के रुप में पहचान वाले गुलजार (Gulzar) 69वां जन्मदिन मना रहे हैं.Also Read - Gulzar Birthday: अदबी इदारों से लेकर फ़िल्मी गलियारों में धूम मचाने वाले गुलज़ार साहब की कुछ चुनिंदा नज़्में

गुलजार का परिवार अमृतसर आ गया
गुलजार (Gulzar) का असली नाम संपूर्ण सिंह कालरा है, उनके इस नाम के बारे में बहुत ही कम लोगों को पता होगा. गुलजार का जन्म 18 अगस्त 1934 को पंजाब के झेलम में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है. बंटवारे के बाद गुलजार का परिवार अमृतसर आ गया था, अमृतसर में गुलजार (Gulzar) का मन नहीं लगा और वह मुंबई आ गए. Also Read - Poems are floating around us says poet Gulzar | जब गुलजार ने कहा, कविताएं हमारे आसपास तैर रही हैं

गैराज में काम करना किया शुरु
मुंबई आने के बाद गुजारा करने के लिए गुलजार ने गैराज में काम करना शुरू कर दिया था, गैराज में जब उन्हें समय मिलता था तो वह कविताएं लिखते थे. गुलजार के करियर की शुरूआत 1961 में विमल राय के सहायक के रुप में हुई थी, उन्होंने ऋषिकेश मुखर्जी और हेमंत कुमार के साथ भी काम किया.इसी दौरान उन्हें फिल्म बंदिनी में लिरिक्स लिखने का मौका मिला, उन्होंने फिल्म बंदिनी में ‘मोरा गोरा अंग लेई ले’ लिखा. Also Read - Happy Birthday Gulzar: Top sizzling poems and nazms of Gulzar | जन्मदिन विशेषः यूं ही कोई 'गुलज़ार' नहीं होता, पढ़िए उनकी मदहोश कर देने वाली नज़्में

राखी से पहली नजर में हुआ इश्क
गुलजार को गुजरे जमाने की मशहूर अदाकारा राखी से मोहब्बत हो गई थी. राखी पहले से शादीशुदा थीं. 15 साल की उम्र में उनकी शादी एक बांग्ला फिल्मकार से हो चुकी थी. लेकिन यह शादी लंबे समय तक नहीं चली और ये रिश्ता टूट गया. गुलजार की राखी से पहली मुलाकात बॉलीवुड की एक पार्टी में हुई और वह उन्हें दिल दे बैठे. आखिरकार दोनों ने 15 मई 1973 को शादी कर ली.

इस वजह से अलग होने पर हुए मजबूर
कश्मीर में ‘आंधी’ फिल्म की शूटिंग चल रही थी. इस फिल्म की हीरोइन सुचित्रा सेन, अभिनेता संजीव कुमार से नाराज चल रही थीं. इसीलिए गुलजार सुचित्रा को मनाने पहुंचे, बंद कमरे में घंटों दोनों के बीच बात होती रही और उनके कमरे से राखी ने गुलजार को निकलते हुए देखा और दोनों में खुब लड़ाई हुई, मीडिया रिर्पोट कहती हैं कि गुलजार ने राखी पर हाथ पर उठाया था और दोनों ने अपनी राहें जुदा कर ली. हालांकि दोनों सार्वजनिक मंचों पर साथ दिखाई दे जाते हैं लेकिन बीते 44 सालों से गुलजार अकेले ही रह रहे हैं.