बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान का कहना है कि वह भले ही ‘अर्थपूर्ण फिल्में’ नहीं करते, लेकिन उनकी फिल्में ‘बड़ा संदेश’ देती हैं. वर्ष 1988 में सलमान ने बॉलीवुड में ‘बीवी हो तो ऐसी’ में एक अभिनेता के रूप में कदम रखा. इसके बाद उन्होंने ‘मैंने प्यार किया’, ‘करण अर्जुन’, ‘जुड़वा’, ‘बीवी न. 1’, ‘वॉन्डेट’, ‘दबंग’ और ‘किक’ जैसी फिल्मों में काम किया है. Also Read - फिल्म 'राधे' की रिलीज से पहले सलमान खान ने कमाए इंस्टाग्राम पर इतने करोड़ फॉलोवर्स, ऐसे किया शुक्रिया

खलनायक की भूमिका के बारे में पूछे जाने पर सलमान ने कहा, “खलनायक? मैं नहीं कर सकता, क्योंकि मैं इस तरह की भूमिकाएं निभाऊंगा तो लोग मुझसे प्रभावित होंगे और जो मैं फिल्म में करूंगा तो वे भी वैसा ही व्यवहार करेंगे. मेरी फिल्मों में उनके लिए बहुत सारे संदेश हैं. मेरी सभी फिल्में गलत काम से दूर रहने और सही चीजें करने का संदेश देती हैं.”


View this post on Instagram

#Beinghumanecycle #lovecareshare #electrictransport #ecofriendly #futuretransport #cleangreen

A post shared by Salman Khan (@beingsalmankhan) on

उन्होंने कहा, “मैं ‘अर्थपूर्ण फिल्मों’ जैसे संदेश नहीं देता.” फिल्मों से अपने संवादों का जिक्र करते हुए, उन्होंने कहा, ‘स्वागत नहीं करोगे हमारा?’ या मुझ पर एक एहसान करना कि ‘मुझ पर कोई एहसान ना करना’ या ‘एक बार जो मैंने कमिटमेंट कर दी, फिर मैं अपने आप की भी नहीं सुनता.’


View this post on Instagram

Bada wala blessing getting to spend time wid ur Maa . #MaltaDiaries #Bharat

A post shared by Salman Khan (@beingsalmankhan) on

अपने 30 वर्षीय करियर की ओर पलटकर देखते हुए उन्होंने कहा, “ऐसा लगता है जैसे कुछ दिन पहले की ही बात है. मैंने एक एयर होस्टेस को देखा. उसने कहा, ‘हाय, तुम कैसे हो?’ क्या चल रहा है? उड़ान कैसी है?” एयर होस्टेस के बारे में उन्होंने बताया, “तब मैंने उसका नाम पढ़ा रेणु आर्या. वो हीरोइन (फिल्म बीवी हो तो ऐसी में) थी.”

उन्होंने अपने प्रोफेशनल करियर के बारे में बताया. सलमान ने कहा, “सभी बड़ी हिट फिल्मों के साथ-साथ परेशानियां भी मोड़ ले रही हैं.” फिल्मों में रोमांस और अन्य प्रकार की भूमिकाएं निभाने और निर्माण के अलावा, सलमान टीवी शो ‘बिग बॉस’ के होस्ट भी हैं. 53 वर्षीय अभिनेता काम अपनी बॉडी की फिटनेस बनाए रखने के लिए करते हैं.

उन्होंने कहा, “खासतौर पर इस इंडस्ट्री में जो भी काम कर रहा है वो हमेशा फिट रहेगा. हम गाने, एक्शन सीन्स और डांस करते हैं. जब तक आप काम करते हैं, तब तक फिट रहेंगे, लेकिन डेस्क जॉब .. पूरे दिन, आप बैठे हैं.” कमीज उतारने और अपने डोले-शोले दिखाने वाले अभिनेता ने कहा, “बैठे रहने की वजह से इसमें कार्डियो नहीं है, तब आपकी बॉडी इस तरह के जीवन की आदी हो जाती है.”

सलमान खान का मानना है कि वह अपने दिग्गज पटकथा लेखन सलीम खान के आज्ञाकारी बेटे हैं. सलमान ने कहा, “आप लोग (मीडिया) कई बार मुझे अवज्ञाकारी और गैरजिम्मेदार मानते हैं और मुझे लगता है कि मेरे माता-पिता बिल्कुल अलग तरह के हैं.”