नई दिल्ली: बॉलीवुड की दुनिया में अपने अलग अलग किरदारों से सबका दिल जीतने वाले अभिनेता ताहिर राज भसीन ने फिल्म इंडस्ट्री में छह साल पूरे कर लिए हैं. ताहिर ने साल 2014 में रिलीज हुई ‘मर्दानी’ के खलनायक के रूप में अपनी शुरुआत की थी. तब से उन्होंने ‘फोर्स 2’, ‘मंटो’ और ‘छिछोरे’ जैसी फिल्मों में कई शेड्स के किरदार निभाए. आगामी फिल्म ’83’ में उन्होंने एक वास्तविक जीवन के किरदार को निभाया है. फिल्म में उन्होंने महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर की भूमिका निभाई है.Also Read - 'हमें हमेशा सेकेंड चान्स मिलता है क्या? Looop Lapeta का स्पेशल डायलॉग रिलीज़, घबराए दिखे तापसी...भसीन?

अब तक की अपनी बॉलीवुड यात्रा को याद करते हुए ताहिर ने कहा, “यह एक विशाल रोलर कोस्टर रहा है. इस दौरान मैंने भीड़भाड़ का सामना करते हुए बहुत कुछ सीखा है और मुझे प्रदीप सरकार, नितेश तिवारी, नंदिता दास और और कबीर खान जैसे शानदार निर्देशकों के साथ काम करने का मौका मिला है. वे महान विचार वाले निर्देशक हैं.” Also Read - Looop Lapeta Trailer: रिलीज हुआ तापसी पन्नू और ताहिर राज भसीन की 'लूप लपेटा' का ट्रेलर, OTT पर होगी स्ट्रीम

View this post on Instagram

Shifting Phases 🌙

A post shared by Tahir Raj Bhasin (@tahirrajbhasin) on

Also Read - Yeh Kaali Kaali Ankhein Trailer: तीन चीज़ें इंसान को बर्बाद कर देती हैं...पैसा...ताकत और...क्या होगा अब मिर्जापुर की गोलू का?

अभिनेता का कहना है कि उन्होंने जानबूझकर कई तरह की भूमिकाओं और भिन्न शैलियों के किरदारों को निभाया. उन्होंने कहा, “यह निर्णय मैंने अपने एक्सप्लोर पार्ट को ध्यान में रखते हुए लिया, जिसे मेरे काम के माध्यम से देखा जा सकता है. उदाहरण के तौर पर ‘मदार्नी’ एक ऑल-आउट क्राइम ड्रामा थी, ‘फोर्स 2’ जासूसी थ्रिलर और ‘मंटो’ एक पीरियड बायोपिक थी और ’83’ एक स्पोर्ट्स बायोपिक है, जबकि ‘छिछोरे’ एक कॉलेज फन फिल्म थी. वहीं ‘लूप लपेटा’ जो मेरी आगामी फिल्म है, वह एक रोमांटिक फिल्म है.

उन्होंने कहा, “तो मैंने बहुत जानबूझकर कोशिश की है कि जितना हो सके, अपने लिए और दूसरों के लिए भी इसे दिलचस्प बना सकूं.”