मुंबई. अभिनेत्री माही गिल (Mahi Gill) ‘देव डी’, ‘साहेब बीबी और गैंगस्टर’ और ‘पान सिंह तोमर’ जैसी फिल्मों में अपनी भूमिकाओं के लिए जानी जाती हैं. उनका कहना है कि लंबे समय से उन्हें सेक्सी ब्यूटी के रूप में स्टीरियोटाइप कर दिया गया है और हर समय सेक्सी दिखना बोरिंग है. माही जल्द ही डिजिटल फिल्म ‘पोशम पा’ (Posham Pa) में नजर आने वाली है, जिसमें वे एक मराठी यौनकर्मी की भूमिका निभा रही हैं. क्या इस भूमिका को करना मुश्किल था?Also Read - Covid-19: दीपिका से लेकर अमिताभ बच्चन तक, इन बॉलीवुड सितारों ने ताली-थाली बजाकर किया नायकों का सम्मान

माही ने बताया, “एक अभिनेत्री के रूप में मैं काफी भूखी हूं और मैं बहुत आसानी से मना नहीं करती, क्योंकि मुझे एक ही तरह की पटकथाएं और भूमिकाएं मिल रही है. मुझे टाइपकास्ट कर दिया गया है, क्योंकि लोग मुझे तभी फोन करते हैं, जब उन्हें एक कामुक महिला की भूमिका में किसी को लेना होता है, जो बोल्ड और ब्यूटीफुल दिखे. ईमानदारी से कहूं, तो हमेशा सेक्सी दिखना बोरिंग है. मेरा मतलब है कि मैं कैसी दिखती हूं, मैं उससे कहीं ज्यादा हूं. मैं एक अभिनेत्री एक परफार्मर हूं. धीरे-धीरे मैं चुनौतीपूर्ण भूमिकाएं निभाना शुरू कर रही हूं.” Also Read - अभिनेत्री सनी लियोन हैं बिंदास, कहती हैं- मुझे जो ठीक लगता है उसे ही अपनाती हूं

सुमन मुखोपाध्याय द्वारा निर्देशित ‘पोशम पा’ में रागिनी खन्ना और सयानी गुप्ता भी है. इसकी कहानी दो सीरीयल किलर्स के इर्द-गिर्द घूमती है. एक पंजाबी होने के नाते माही के लिए मराठी भूमिका निभाना कितना चुनौतीपूर्ण था. वे कहती हैं, “इस चरित्र में जो बदलाव होते हैं, वह दिलचस्प है. वह एक यौनकर्मी के रूप में अपनी यात्रा की शुरुआत करती हैं, फिर वह घरेलू सहायिका बन जाती है और उसके दो बच्चे भी होते हैं. जिन परिस्थितियों से वह गुजरती है, वही उसे अपनी पहचान निर्मित करने में मदद करती है. मुझे इस चरित्र के उतारचढ़ाव पसंद हैं.” Also Read - मुझे जो ठीक लगता है उसे ही अपनाती हूं, लोग करते रहें जज: सनी लियोन

माही ने साल 2003 में फिल्मों में अपने करियर की शुरुआत की थी, लेकिन साल 2009 में आई फिल्म ‘देव डी’ से उन्हें पहचान मिली. ‘पोशम पा’ ओटीटी प्लेटफार्म जी5 पर 21 अगस्त को रिलीज होगी.