अभिनेत्री तापसी पन्नू का कहना है कि महिलाओं के बीच प्रगतिशील सोच का जश्न मनाना जरूरी है, क्योंकि इसने उन्हें बंदिशों को तोड़ने की प्रेरणा दी है. तापसी स्नैक ब्रांड कुरकुरे की ब्रांड एंबेसडर के तौर पर अनुबंधित की गई हैं. यह ब्रांड नए टैगलाइन ‘ख्याल तो चटपटा है’ के साथ आया है, जो प्रगतिशील सोच का जश्न मनाता है. युवा भारतीय गृहिणियां प्रगतिशील सोच को पारंपरिक भारतीय परिवारों में लेकर आ रही हैं. Also Read - तापसी पन्नू को ट्रोलर्स ने कहा- 'फालतू हीरोइन', 'थप्पड़' एक्ट्रेस ने दिया करारा जवाब 

Also Read - 'रश्मि रॉकेट' ने पूरा किया अपना पुणे शेड्यूल, तापसी पन्नू को मिला सेट पर ये सरप्राइज

  Also Read - तापसी 'रश्मि रॉकेट' के लिए बहा रही हैं खूब पसीना, फोटो शेयर कर लिखा- 'डेड होने से कुछ सेकंड पहले...'

View this post on Instagram

 

Today when I finally picked a tennis racket it was in an ATP @maharashtraopen tournament along with some legendary players. This will be memorable and that’s not just coz I looked like the biggest fool on court ! 🙈 That’s @7acespune trying their hand at tennis ! Coz after all it’s all happening in our home town Pune!

A post shared by Taapsee Pannu (@taapsee) on

तापसी ने एक बयान में कहा, “भारतीय गृहिणियां अपने परिवार में और समाज में बड़े पैमाने पर प्रगतिशील बदलाव लाने की प्रभावी वाहक रही हैं. मेरा दृढ़ता से मानना है कि महिलाओं के बीच इस प्रगतिशील सोच का जश्न मनना जरूरी है, जिसने उन्हें बाधाओं को पार करने और करियर बनाने व जुनून पूरा करने के लिए प्रेरित किया है.”

फिल्म ‘नाम शबाना’ की अभिनेत्री ने कहा कि यह उन महिलाओं को सम्मान देने का समय है, जो हमारे घरों पर राज करती हैं. जल्द ही तापसी पन्नू अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म बदला में नजर आएंगी. इस फिल्म का ट्रेलर हाल ही में रिलीज हुआ है जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया. फिल्म की कहानी की बात करें तो ‘बदला (Badla)’ की कहानी आन्ट्रेप्रेन्योर नैना की है जो खुद को अपने बॉयफ्रेंड के शव के साथ होटल के कमरे में बंद पाती है.

नैना खुद को बचाने के लिए फेमस वकील बादल गुप्ता (Amitabh Bachchan) को हायर करती हैं और इसके बाद फिल्म की कहानी आगे बड़ती है. यह फिल्म 2016 की फेमस स्पैनिश फिल्म ‘कॉन्ट्राटिएम्पो (Contratiempo)’ की रीमेक बताई जा रही है. इस फिल्म को सुजॉय घोष ने डायरेक्ट किया है. इससे पहले शाहरुख खान ने अपने ट्विटर हैंडल पर इस फिल्म को लेकर कुछ स्पेशल ट्वीट किए थे जिसके बाद लोगों का ध्यान इस तरफ गया. इस फिल्म की टैगलाइन भी काफी अलग और दिलचस्प है, ”माफ कर देना हर बार सही नहीं होता”.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.