बॉलीवुड अभिनेत्री दीप्ति नवल ने अपने पहले नाटक में लोकप्रिय लेखिका अमृता प्रीतम की भूमिका निभाकर दिल्ली वासियों का दिल जीत लिया है। वह मानती हैं कि उन्हें रंगमंच की दुनिया में बहुत पहले ही आ जाना चाहिए था। दीप्ति की मुख्य भूमिका वाला नाटक ‘एक मुलाकात’ का रविवार शाम फिक्की सभागार में मंचन किया गया। दीप्ति ने आईएएनएस को बताया, “मुझे अहसास हुआ है कि रंगमंच बहुत मजेदार और आरामदायक है। मुझे 30 साल पहले नाटकों में आ जाना चाहिए था। मैं डरती थी कि प्रस्तुति के दौरान अपनी लाइनें कहीं भूल न जाऊं।”Also Read - Delhi Pollution Today: बिगड़ने लगी दिल्ली की आबो-हवा, 300 के पार पहुंचा एयर क्वालिटी इंडेक्स

‘एक मुलाकात’ अमृता प्रीतम और उर्दू के प्रसिद्ध शायर साहिर लुधियानवी के रिश्ते की एक पड़ताल है। नाटक में साहिर लुधियानवी की भूमिका जाने-माने अभिनेता शेखर सुमन ने निभाई। Also Read - फिर से कांग्रेस अध्यक्ष बन सकते हैं राहुल गांधी, CWC की बैठक में बोले- नेताओं ने दबाव बनाया तो विचार करूंगा

दीप्ति नाटक में अमृता की भूमिका निभाने को लेकर थोड़ी घबराई हुई थीं, लेकिन दर्शकों से मिली जबर्दस्त प्रतिक्रिया ने उनकी सभी शंकाओं को थोथा साबित कर दिया। Also Read - दिल्ली सरकार के प्रचार वीडियो में दिखे स्कूली बच्चे, बाल अधिकार आयोग कर सकता है कार्रवाई; जानिए क्यों...

दीप्ति ने कहा, “मैं घबराई हुई थी, क्योंकि दिल्ली वाले अमृता प्रीतम एवं उनके काम से वाकिफ हैं और वे शायद मेरे किरदार को आंक सकते हैं। वहीं, दूसरी ओर मैं उत्साहित भी थी, क्योंकि दिल्ली के दर्शक मुंबई के दर्शकों के उलट पंजाबी और उर्दू संवादों को समझ सकते हैं।”