नई दिल्ली: पूरे भारत में फिलहाल नागरिकता विधयेक के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं और विरोधी नारें लगाए जा रहे हैं. देश भर के कई सियासी चेहरों ने इस बिल का विरोध किया है वहीं सत्ताधारी पार्टी ने इस प्रदर्शन का इल्जाम विपक्ष पर डाल दिया है. इस प्रदर्शन का खासा असर बॉलीवुड पर भी पड़ता हुआ नजर आ रहा है. कई फिल्मी सितारों ने इस विधेयक के पक्ष में आकर अपनी बात रखी और सरकार के इस कदम की सराहना की वहीं दूसरी तरफ कई सेलेब्रिटीज ने इस बिल का विरोध करते हुए अपनी बात रखी. फिल्मी दुनिया के कई कलाकारों ने सरकार विरोधी प्रदर्शनों में भाग भी लिया.Also Read - Anurag Kashyap बेटी के साथ गए लंच पर, बिल किसने भरा? आलिया बोलीं- पापा शर्मिंदा होना...VIDEO

इसी सिलसिले में बी टाउन के दिग्गज अनुपम खेर ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए प्रदर्शन में हिस्सा ले रहें छात्रों से अनुरोध किया. उन्होंने कहा, “मेरे प्यारे भारत के विद्यार्थियों -प्रदर्शन करना तुम्हारा अधिकार है, लेकिन भारत को बचाना तुम्हारा कर्तव्य है.” Also Read - अनुराग कश्यप की बेटी Aaliyah ने पापा से पूछे अटपटे सवाल, अगर मैं प्रेग्नेंट हो गई तो क्या करोगे?

Dabangg 3 Box Office Collection Day 1: ‘दबंग 3’ ने पहले दिन की 22-24 करोड़ की कमाई, CAA प्रोटेस्ट के चलते हुआ 20% का नुकसान Also Read - पति Anupam Kher से ज़्यादा अमीर हैं Kirron Kher, कुल संपत्ति जानकर सिर चकरा जाएगा, महंगी गाड़ियां...

अनुपम खेर के साथ उनकी पत्नी किरण खेर ने भी लोगों से प्रतिक्रिया देने से पहले अधिनियम को समझने का आग्रह किया. किरण खेर 2014 में चंडीगढ़ से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद के रूप में लोकसभा के लिए चुनी गईं थी.

इस फेहरिश्त में अभिनेता परेश रावल का भी नाम शामिल है. उन्होंने भी सीएए का समर्थन करते हुए ट्वीट किया और प्रधानमंत्री मोदी की तुलना आजाद भारत के पहले गृहमंत्री सरदार पटेल से की. परेश रावल 2014 में अहमदाबाद (पूर्व) से भाजपा के टिकट पर संसद पहुंचे थे.

सोशल मीडिया पर सनी लियोनी ने शेयर किया VIDEO, कहा- ‘चुप नहीं बैठना चाहिए’

इस लंबी लिस्ट में फिल्मकार विवेक अग्निहोत्री और निर्माता अशोक पंडितका भी नाम शामिल हैं जिन्होंने सरकार का समर्थन करते हुए  सीएए का स्वागत किया है. हांलाकि, फरहान अख्तर, मनोज वाजपेयी, अनुराग कश्यप, हुमा कुरैशी, ऋचा चड्ढा, अली फजल, शबाना आजमी, कबीर खान, स्वरा भास्कर, सुशांत सिंह और सिद्धार्थ ने इस कानून का विरोध किया है.

इनपुट – आईएनएस