नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस के मौके पर शाहरुख खान ने कुछ ऐसी बातें कही है जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है. उन्होंने कहा कि उनके घर में धर्म की चर्चा नहीं होती है. वह बताते हैं कि उनके बच्चे उन रूपों में “भारतीय” लिखते हैं जहां उन्हें अपने धर्म का उल्लेख करने की आवश्यकता होती है. शाहरुख खान (Shahrukh Khan) ये बातें शनिवार रात को प्रसारित होने वाले डांस प्लस 5 के सेट पर कही.

एक अंग्रेजी अख़बार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक उन्होंने कहा कि हमने कोई हिंदू-मुस्लिम की बात नहीं की. मेरी बीवी हिंदू है, मैं मुस्लिम हूं और जो मेरे बच्चे हैं, वो हिंदुस्तान हैं. उनके इस बात को सुनकर लोग तालियां बजाते रहे, क्योंकि उन्होंने अपनी बातें जारी रखी. उन्होंने आगे कहा कि जब मेरे बच्चे स्कूल गए तो वहां धर्म वाले कॉलम में भरना होता है कि धर्म क्या है? जब मेरी बेटी छोटी थी तो उसने एक बार मुझसे पूछा था कि पापा हम कौन से धर्म के हैं?, तो मैंने उसमें लिखा कि हम इंडियन ही हैं यार. कोई धर्म नहीं है और होना भी नहीं चाहिए.


शाहरुख खान अक्सर इस बात पर जोर देकर कहते हैं कि उनके घर के अंदर धर्म नहीं थोपा जाता है और वे सभी त्योहार को मनाते हैं. अपने बच्चों के बारे में बात करते हुए Shahrukh Khan ने कहा कि मैंने अपने बेटे और बेटी का नाम सामान्य (पैन-इंडिया और पैन-धार्मिक) लोगों की तरह रखे हैं- आर्यन और सुहाना. खान अपने बच्चों को अपनी तरह शिक्षा देते हैं ताकि वे वास्तव में इन सब चीजों को भूल न सकें. शाहरुख खान (Shahrukh Khan) अपने धर्म के बारे में बात करते हुए कहा था कि मैं पांच बार नमाज पढ़ने के मामले में धार्मिक नहीं हूं लेकिन मैं इस्लामिक हूं. मैं इस्लाम के सिद्धांतों में विश्वास करता हूं और मेरा मानना ​​है कि यह एक अच्छा धर्म और एक अच्छा अनुशासन है.

जवानों ने 17000 फीट ऊंचाई पर फहराया तिरंगा, रोंगटे खड़े करने वाला है देशभक्ति का ये जज़्बा, VIDEO

बता दें कि इम्तियाज अली की जब हैरी मेट सेजल और Aanand L Rai की फिल्म ZERO बुरी तरह से फ्लॉफ होने के बाद शाहरूख खान (Shahrukh Khan) ने अभी तक किसी भी फिल्म की घोषणा नहीं की है. बहरहाल, उनके पास अभिषेक बच्चन के बॉब बिस्वास सहित कुछ प्रोडक्शन वेंचर्स हैं, जो इस हफ्ते की शुरुआत में दिल्ली में जारी होने वाले हैं.