‘फैंटम’ के निर्माताओं ने स्पष्ट किया है कि इस फिल्म की दुनिया में मौजूद किसी वास्तविक संगठन से कोई समानता नहीं है। निर्माताओं ने यह स्पष्टीकरण एक चिकित्सीय धर्मार्थ संगठन एमएसएफ की ओर से फिल्म में उसके बारे में गलतबयानी करने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी मिलने पर दिया है। फिल्म के निर्माताओं ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा, “नाडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड और यूटीवी सॉफ्टवेयर कम्युनिकेशन्स लिमिटेड स्पष्ट करता है कि ‘फैंटम’ फिल्म में ‘मेडिसिन इंटरनेशनल’ नाम से दिखाया गया गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) पूरी तरह काल्पनिक है और यह दुनिया के किसी वास्तविक संगठन के समान एवं संबंधित नहीं है।” Also Read - करीना ने साझा की सैफ के साथ 12 साल पुरानी तस्वीर, यूजर ने कहा- ओल्ड इज गोल्ड 

उल्लेखनीय है कि एक सहायक चिकित्सीय धर्मार्थ संगठन ‘मेडिसिन्स सैन्स फ्रंटियर्स’ (एमएसएफ) ने ‘फैंटम’ में अपने नाम का कथित गलत प्रयोग करने पर इसके निर्माताओं के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का फैसला लिया है। उसका दावा है कि चिकित्सीय समूह को लेकर की गई गलतबयानी इसकी साख को नुकसान पहुंचा सकती है और संघर्षरत इलाकों में सेवाएं दे रहे इसके राहतकर्मियों की जान जोखिम में डाल सकती है। Also Read - सैफ अली खान के 'पटौदी पैलेस' की कीमत जानते हैं? यहां देखिए इस आलिशान घर की Inside Pics 

सैफ अली खान और कैटरीना कैफ अभिनीत इस फिल्म को लेकर यह विवाद पिछले सप्ताह बढ़ गया। Also Read - Taimur को क्रिकेट खेलते देख Kareena बोलीं, 'मेरे बेटे लिए IPL में जगह है ?'

‘बीबीसी डॉट कॉम’ के अनुसार, एमएसएफ इंडिया के महानिदेशक मार्टिन स्लूट ने कहा है कि वास्तविकता और कल्पना के बीच का अंतर धुंधलाने से एमएसएफ का काम प्रभावित हो सकता है और एमएसएफ उसके बारे में की गई गलतबयानी को सही करवाने के लिए कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहा है।