बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों ने महाराष्ट्र सरकार द्वारा सिनेमा हॉल में बाहर से खाने-पीने की चीजें ले जाने की अनुमति देने पर चिंता जाहिर की है. उनका कहना है कि इससे सुरक्षा का सवाल पैदा होने के साथ-साथ फिल्मों के प्रति उत्साही लोगों की सिरदर्दी बढ़ जाएगी. मशहूर एक्ट्रेस पूनम ढिल्लो ने कहा, “इससे निश्चित रूप से शराब को लेकर समस्या पैदा होगी और सुरक्षा का काम बढ़ जाएगा. लोग मांसाहार खाद्य सामग्री लेकर पहुंचे तो हड्डियों को लेकर समस्या पैदा होगी. अचार की गंध और अन्य कई सुगंधित चीजों को लेकर थियेटर के वातावरण प्रभावित होगा.”

उन्होंने कहा कि खाद्य पदार्थो को लेकर आपत्ति जताने पर लोग झगड़ेंगे. उन्होंने कहा, “सुरक्षा कर्मियों का काम बढ़ जाएगा और हवाई अड्डे की तरह एक या दो घंटे पहले सुरक्षा जांच के लिए आना होगा, जो प्रैक्टिकल नहीं है.” महाराष्ट्र सरकार ने शुक्रवार को मल्टीप्लेक्स को चेतावनी दी कि सिनेमा देखने आने वालों को घर का खाना या बाहर से खाद्य पदार्थ साथ लाने के लिए रोकने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

लेखक जीशान कादरी ने कहा, “कोई मूवी हॉल में मूवी देखने जाता है न कि खाने के लिए.” अभिनेता सोनू सूद ने कहा, “खाने-पीने की चीजों की जांच होनी चाहिए. सुरक्षा कारणों से एक मानक बनाया जाना चाहिए. टिफिन से आने वाली गंध से परिसर का माहौल खराब होगा.”

गायक कैलाश खेर ने कहा कि स्थिति चुनौतीपूर्ण हो जाएगी. वहीं गायिका अनुराधा पौडवाल ने कहा, “यह हैरान करने वाली बात होगी. जमाने के बाद हमारे यहां पीवीआर और आईनॉक्स जैसे थिएटर हुए हैं. अगर ऐसा होगा तो फिर लोग थिएटर जाना बंद कर देंगे. यह अच्छा विचार नहीं है.”

गायक और अभिनेता सोनू निगम को भी लगता है कि बाहर की खाने-पीने की चीजें सिनेमा हाल में ले जाने की अनुमति नहीं होनी चाहिए क्योंकि इससे सिनेमा हाल के मालिकों का कारोबार प्रभावित होगा. उन्होंने कहा, “उनको इस प्रकार उनके बिजनेस मॉड्यूल से वंचित करना उचित नहीं है, जिससे उनके लिए अस्तित्व का संकट पैदा होगा.”