मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस वक़्त के साथ उलझता जा रहा है. मामले में ड्रग्स एंगल निकलने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो एक्टिव हो चुकी है. एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शोविक चक्रवर्ती के खिलाफ केस दर्ज किया था. अब बांबे हाईकोर्ट के न्यायाधीश एस. वी कोटवाल ने ड्रग्स मामले में रिया और शोविक की जमानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. Also Read - जेल से छूटने के बाद ड्रग्स केस की आरोपी रिया चक्रवर्ती बिग बॉस 14 में करेंगी एंट्री? लेकिन...

अदालत में अतिरिक्त सॉलिस्टिर जनरल अनिल सिंह और रिया व शोविक के वकील सतीश मानशिंदे, सह आरोपी अब्देल बासित परिहार के वकील तारिक सैयद, सैमुअल मिरांडा के वकील सुबोध देसाई, दीपेश सावंत के वकील राजेंद्र राठौड़ ने जिरह की और इन लोगों की सुनवाई पूरी होने के बाद अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया. Also Read - अर्जुन रामपाल की गर्लफ्रेंड का भाई ड्रग्स केस में गिरफ्तार, सुशांत मामले से है कनेक्शन  

जमानत याचिका का विरोध करते हुए, एनसीबी ने कहा कि रिया व शोविक हाई सोसायटी के लोगों व ड्रग पैडलर्स से संबंधित ड्रग सिंडिकेट की सक्रिय सदस्य हैं. इसके अलावा दोनों ड्रग्स खरीदने और इसके वित्तपोषण में संलिप्त हैं, जिसका खुलासा एनसीबी को दिए उनके बयानों से होता है. हालांकि मानशिंदे ने कड़ाई से एनसीबी के बयान को इनकार कर दिया. Also Read - सुब्रमण्यम स्वामी का सवाल- सुशांत केस को बंद करने के लिए मुंबई में इतनी जल्दबाजी क्यों?

बता दें कि सुशांत की मौत के मामले में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने आज मंगलवार को सीबीआई को अपनी मीडिकोलीगल ओपिनियन दे दिया है. इसके साथ ही एम्‍स ने कहा है कि हम मीडिया में चल रही किसी भी कयासबाजी की पुष्टि नहीं करते हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, सुशांत सिंह राजपूत केस के मामले में एम्‍स के मेडिकल बोर्ड के चेयरमैन डॉ. सुधीर गुप्‍ता ने मंगलवार को अपने बयान में कहा, एम्‍स के मेडिकल बोर्ड ने सीबीआई को अपना मेडिकोलीगल ओपिनियन सीबीआई को बता दिया है, जो किसी से भी शेयर नहीं किया जा सकता है क्‍योंकि केस सबज्‍युडिस है. हम मीडिया में चल रहे किसी भी अनुमान की पुष्‍ट‍ि नहीं करते हैं.

इनपुट- एजेंसी