एक कार जिसे देखते ही आप बॉलीवुड अभिनेत्री श्रीदेवी की यादों में खोने को मजबूर हो जाएंगे. इस होंडा सिटी कार पर लगीं श्रीदेवी की तरह-तरह की तस्वीरें उन्हें जीवंत कर देतीं है. श्रीदेवी की दीवानगी तीन युवतियों पर कुछ इस तरह से छाई हुई है कि उन्होंने एक कार को ही श्रीदेवीमय कर दिया. श्रीदेवी की दीवानी तीन युवतियों में से एक का नाता मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले से है. नाम है टोनू सोजतिया. वे फोटोग्राफी के फन में माहिर हैं और पुणे में फिल्म जगत के शोध कार्य में लगी हुई हैं.

Image may contain: 4 people, people smiling, people standing, car and outdoor

वे कहती हैं, “मैंने श्रीदेवी की अनेक फिल्में देखी हैं, हर फिल्म में उनका किरदार प्रभावित करने वाला रहा, मगर उनकी असमय मौत ने मुझे अंदर तक हिला दिया. लिहाजा, उन्होंने अपनी दो सहेलियों- भावना वर्मा और परिधि भाटी के साथ एक समूह बनाया और उसे नाम दिया ‘भाटोपा’. उसके बाद पुणे से गोवा कार रैली में हिस्सा लिया.”

Image may contain: 3 people, people smiling, people standing, car and outdoor

टोनू ने बताया, “इस कार पर श्रीदेवी की वही तस्वीरें और डायलॉग चस्पा किए, जिन्होंने उन्हें सबसे ज्यादा प्रभावित किया. इनमें अलग-अलग भूमिकाओं वाली कुल 25 तस्वीरों को लगाया गया है. उसमें ‘मॉम’ फिल्म का डायलॉग- ‘इस देश में रेप तो कर सकते हैं, मगर रेपिस्ट को थप्पड़ नहीं मार सकते’ भी चस्पा है.

Image may contain: 5 people, people smiling, car and outdoor

टोनू आगे कहती हैं कि वे अभी फोटोग्राफी और फिल्मों पर काम कर रही हैं. इस दौरान उनके मन पर श्रीदेवी ने गहरी छाप छोड़ी है. उन्होंने कहा, “हर फिल्म में उनका किरदार अलग और प्रभावित करने वाला है. उनका फिल्मी करियर काफी लंबा रहा है, लगता ही नहीं है कि, आज वे हमारे बीच नहीं है.”

टोनू बताती हैं, “जब भी कोई व्यक्ति कार पर लगी तस्वीरों को देखता है तो वह देखता ही रह जाता है. कुछ देर बाद जरूर उसकी प्रतिक्रिया आती है कि ‘श्रीदेवी तो अब हमारे बीच नहीं रहीं’.” टोनू के पिता सुभाष सोजतिया, जो मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री रहे हैं, कहते हैं, “मेरी बेटी महिला सशक्तिकरण के लिए काम करना चाहती है, वह महिलाओं को जागृत करने की दिशा में भी काम कर रही है. श्रीदेवी की तस्वीर वाली कार भी उसने महिलाओं की ताकत दिखाने और दुष्कर्म के खिलाफ आवाज उठाने के लिए तैयार की है. इसमें उसे परिवार और समाज के सभी लोगों का समर्थन मिल रहा है.”

कैसे हुई थी मौत
18 फरवरी को श्रीदेवी अपने पति बोनी कपूर और बेटी खुशी कपूर के साथ दुबई में अपने भांजे की शादी अटेंड करने के लिए गई थीं. 20 फरवरी को बोनी अपनी छोटी बेटी के साथ वापस लौट आए लेकिन फिर श्रीदेवी को सरप्राइज देने के लिए वापस दुबई गए. वहां उन्होंने श्रीदेवी को डिनर डेट पर जाने कि लिए मनाया. श्रीदेवी तैयार होने के लिए वॉशरूम जाती हैं. वहीं, उनके साथ एक हादसा हो जाता है. और बाथटब में डूबकर उनकी मौत हो जाती है.

 

(इनपुट आईएनएस, फोटो साभार-फेसबुक)

 

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.