फिल्मों में अश्लीलता परोसे जाने को लेकर सेंसर बोर्ड सख्त हो गया है। प्रकाश झा की फिल्म लिपस्टिक अंडर माय बुर्का के बाद, जयन चेरियम द्वारा निर्देशित मलयालम फिल्म ‘का बाडीस्केप’ को भी अब बैन कर दिया गया है।

सेंसर ने सख्त लफ्जों में एक पत्र जारी कर कहा है कि हम ऐसी फिल्म को सर्टिफिकेट नहीं दे सकते जिसमें भगवान हनुमान को गे दिखाया गया हो और मुस्लिम लड़कियों को मास्टरबेट करते दिखाया गया हो।

ये फिल्म हिंदू और मुस्लिम धर्म के लोगों की भावनाओं को आहत कर सकती है। का बाडीस्केप्स असल में तीन नौजवानों के रोजमर्रा के संर्घष की कहानी है जिनमें एक गे पेंटर है, दूसरा कबड्डी का खिलाड़ी और तीसरी लड़की जो समाज के स्त्रीयोचित नियमों को नकारती है।

सेंसर बोर्ड का कहना है कि फिल्म के दृश्य समास में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति भी बिगाड़ सकती है। सेंसर बोर्ड अप्रैल 2016 से का बाडीस्केप्स पर निर्णय को लटकाए हुए था। कुछ दिन पहले ही लिपस्टिक अंडर माय बुरका को भी सेंसर बोर्ड ने असंस्कारी फिल्म बताते हुए इसे सर्टिफिकेट देने से इंकार कर दिया था।

देखिए फिल्म का ट्रेलर