नई दिल्ली: अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने जेएनयू में हमला, संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक पंजी के विरोध में देशभर में हजारों लोगों के सड़कों पर उतरकर किए गए प्रदर्शनों की पृष्ठभूमि में कहा कि यह देखकर खुशी होती है कि लोग सामने आ रहे हैं और बिना किसी खौफ के अपनी आवाज उठा रहे हैं. राष्ट्रीय राजधानी में अपनी आगामी फिल्म ‘छपाक’ का प्रमोशन करने आईं 34 वर्षीय अभिनेत्री ने कहा कि यह जरूरी है कि लोग बदलाव लाने के लिए अपने विचार व्यक्त करें. Also Read - Oops Moment! पार्टी में सबके सामने फट गई थी Ranveer Singh की पैंट, Deepika ने ऐसे बचाई पति की इज्जत

रिलीज से दो दिन पहले दीपिका ने शेयर किया ‘छपाक’ का नया प्रोमो, रोजाना तंज झेलने का दर्द बयां करती है ये कहानी Also Read - Deepika Padukone ने इस तस्वीर को शेयर कर खुद को कहा गुंडी, पति Ranveer Singh ने दिया ऐसा रिएक्शन...

दीपिका ने सोमवार रात न्यूज चैनल से कहा, ‘‘यह देखकर मुझे गर्व होता है कि हम अपनी बात कहने से डरे नहीं हैं… चाहे हमारी सोच कुछ भी हो, लेकिन मेरे ख्याल से हम देश और इसके भविष्य के बारे में सोच रहे हैं, ये अच्छी बात है.’’ छपाक की निर्देशक मेघना गुलजार ने कहा कि वह लोगों की पीड़ा महसूस कर सकती हैं, हालांकि मुद्दों की उन्हें अच्छी जानकारी नहीं है. मेघना ने कहा, ‘‘निश्चित रूप से (हमारे भी) विचार हैं. हम भी इसी समाज में रहते हैं, इसलिए हम प्रतिक्रिया देंगे. दुर्भाग्य से हमारे पास पूरी जानकारी नहीं है, इसलिए इस वक्त टिप्पणी नहीं की जा सकती. लेकिन पीड़ा है, जागरूकता है.” Also Read - Amitabh Bachchan पर इस एक्ट्रेस ने लगाया खाना चुराने का 'आरोप', बिग बी ने दिया ऐसा रिएक्शन- Viral Video 

उन्होंने कहा, “मैं उम्मीद करती हूं कि अमन का माहौल बन जाए.’’ इन मुद्दों पर बॉलीवुड से जुड़ी कई शख्सियतों ने प्रदर्शनों में हिस्सा लिया है और कई ने अपने विचार खुलकर व्यक्त किए हैं. हालांकि अमिताभ बच्चन, सलमान खान, शाहरुख खान और आमिर खान समेत कई दिग्गज सितारों ने इस बारे में कुछ नहीं कहा है.