मुजफ्फरपुर: बिहार की राजधानी पटना में जन्मे बॉलीवुड अभिनेता सुशांत राजपूत भले ही अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके कथित आत्महत्या के मामले को लेकर लोगों में गुस्सा व्याप्त है. इसी को लेकर बुधवार को बिहार के मुजफ्फरपुर की अदालत में फिल्मी दुनिया से जुड़े आठ लोगों के खिलाफ एक परिवाद पत्र दाखिल किया गया है. मुजफ्फरपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में स्थानीय अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने बुधवार को एक परिवाद पत्र दाखिल कर फिल्मी दुनिया से जुड़े आठ लोगों पर आरोप लगाया है कि इन सभी ने साजिश के तहत सुशांत को आत्महत्या के लिए मजबूर किया. यह एक तरह से हत्या है. Also Read - सुशांत सुसाइड केस: अब सलमान खान की एक्स मैनेजर से हुई पूछताछ, 5 घंटों तक चला सवालों का सिलसिला

ओझा द्वारा दायर किए गए परिवाद पत्र में कहा गया है कि करण जौहर, आदित्य चोपड़ा, साजिद नाडियाडवाला, सलमान खान, संजय लीला भंसाली, भूषण कुमार, एकता कपूर तथा निर्माता-निर्देशक दिनेश विजान पर आरोप लगाया गया है कि साजिश के तहत ये लोग सुशांत की फिल्में रिलीज होने दे रहे थे. इनके कारण फिल्म से जुड़े कार्यक्रमों में सुशांत को आमंत्रित नहीं किया जाता था. Also Read - सुशांत राजपूत केस: सलमान खान, करण जौहर के खिलाफ शिकायत खारिज, कोर्ट ने कही ये बात

परिवाद पत्र में कहा गया है कि इन सभी लोगों के कारण सुशांत को आत्महत्या करने के लिए विवश होना पड़ा. सुशांत की मौत से बिहार ही नहीं देश के लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं. ओझा ने बताया कि परिवाद पत्र में भादवि की धारा 306, 109, 504, और 506 के तहत आरोप लगाया गया है. Also Read - सलमान,अक्षय जैसे स्टार्स से आगे निकली दीपिका पादुकोण, इस मामले में किया आलिया को भी पीछे

इस पत्र में गवाह के रूप में अभिनेत्री कंगना रनाौत के भी नाम दर्ज है. ओझा ने बताया अदालत ने कि इस मामले की अगली सुनवाई 3 जुलाई को मुकर्रर की है. उल्लेखनीय है कि सुशांत ने मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट पर रविवार को आत्महत्या कर ली थी.