Impact of Corona Virus: देश में कोरोना वायरस की स्थिति फिलहाल थमी है. तीसरी लहर की आशंका है. लोग प्रार्थना कर रहे हैं कि हालात पहली और दूसरी लहर की तरह न हों. क्योंकि हर सेक्टर इससे प्रभावित हुआ है. बॉलीवुड भी इससे अछूता नहीं रहा. अनुमान है कि बॉलीवुड को अब तक हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है. अब सिनेमाघरों में फ़िल्में रिलीज़ हो रही हैं, लेकिन दर्शकों का बेहद अभाव है. न सिर्फ एक्टर्स बल्कि कोरोना के चरम के दौरान फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले सैकड़ों लोगों के लिए मुश्किल खड़ी हो गई. दर्जनों तरह के काम करने वाले अब भी मुश्किल में हैं. मेकअप आर्टिस्ट भी इस प्रभाव से नहीं बचे. बॉलीवुड के कई बड़े एक्टर्स के साथ बतौर मेकअप आर्टिस्ट काम करने वालीं सिमरन जीत कौर बताती हैं कि कई तरह के लोग परेशान हुए. उनका काम भी बेहद प्रभावित हुआ.Also Read - Ashram-3 की शूटिंग के दौरान फिल्‍म सेट पर बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़, प्रकाश झा पर फेंकी स्‍याही

बॉलीवुड में कम समय में बतौर मेकअप आर्टिस्ट पहचान बनाने वालीं सिमरन कौर (Simran Kaur-Simranjeet Kaur) बताती हैं कि फिल्मों में मेकअप आर्टिस्टों की भूमिका काफी बढ़ गई है. कई बार बिना मेकअप आर्टिस्ट के शूटिंग शुरू तक नहीं होती है. मेकअप आर्टिस्ट परदे पर दिखते ज़रूर नहीं, लेकिन अभिनेत्रियों और अभिनेताओं के खूबसूरत लुक के पीछे घंटों की मेहनत होती है. तब कहीं जाकर एक्टर्स को ऐसा लुक मिलता है, जिसे देखने वाले दर्शक वैसा ही चाहने लगते हैं. Also Read - नवाब मलिक ने फिर समीर वानखेड़े पर हमला बोला- जब से NCB में आए हैं, वे पहले ही दिन से फिल्म इंडस्‍ट्री को टारगेट कर रहे

विद्या बालन, कृति सेनन, सौम्या टंडन, रवीना टंडन जैसी एक्ट्रेस का मेकअप करने वालीं सिमरन जीत कौर कहती हैं कि फिल्मों की शूटिंग बंद हुई. लॉकडाउन लगा और लोग जैसे सजना संवरना ही भूल गए. कोरोना से बचना प्राथमिकता हो गया. बहुत ही मुश्किल वक़्त था. अब हालात फिर से नार्मल होना शुरू हुए हैं. काम धीरे-धीरे शुरू हो रहा है, लेकिन कसर अब भी बाकी है. मुंबई में सक्रिय रहने वालीं सिमरन का दिल्ली के राजौरी गार्डन में भी मेकअप स्टुडियो है. वह कहती हैं कि दिल्ली क्या, टीवी इंडस्ट्री, रियलिटी शोज़ से लेकर फिल्म इंडस्ट्री ने उनके काम को प्रभावित किया. Also Read - संजय राउत का दावा- 100 करोड़ वैक्सीन लगाने का दावा ‘झूठा’, लगे सिर्फ इतने खुराक

सिमरन बताती हैं कि लॉकडाउन के चलते बहुतों के साथ ही उनकी रोजी रोटी भी बंद हो गई है, लेकिन कोरोना का दौर हल्का होने के बीच अब फिर से सक्रियता बढ़ रही है. स्थितियां धीरे-धीरे पहले जैसी होने की ओर हैं. वह कहती हैं कि बड़े और छोटे परदे के काम से हजारों लोग जुड़े हैं, आगे भी मुश्किल न हो इसके लिए सभी को कोरोना वायरस प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए.