पटना: पटना के रहने वाले और बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी मामले की जांच की मांग अब जोर पकड़ते जा रही है. इसको लेकर कई राजनीतिक दल और संगठन अब तक सामने आ चुके हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस ने भी सुशांत की खुदकुशी मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग को लेकर मंगलवार को गृहमंत्री अमित शाह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्घव ठाकरे को अलग-अलग पत्र लिखा है. बिहार युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और फिल्म सेंसर बोर्ड परामर्शदात्री समिति के सदस्य रहे ललन कुमार ने गृह मंत्री अमित शाह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्घव ठाकरे को पत्र लिखकर सुशांत के आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है. Also Read - कांग्रेस के G-23 नेता आज जम्मू में साझा करेंगे मंच, पार्टी के नेतृत्व पर उठा चुके हैं सवाल

पत्र में कुमार ने लिखा है कि सुशांत एक छोटे शहर से निकल कर बॉलीवुड में बहुत कम समय में अपनी पहचान बना ली थी, जिससे फिल्मी दुनिया का एक वर्ग नाखुश था. उन्होंने कहा कि मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक आशंका व्यक्त की जा रही है कि उसे आत्महत्या के लिए प्रेरित किया गया था. ऐसे में अगर सीबीआई की जांच हो जाए तो सबकुछ साफ हो जाएगा. Also Read - Mysore Mayor Election: महापौर चुनाव के लिए एक साथ आए कांग्रेस और जेडीएस

उन्होंने आगे यह भी कहा है कि अगर 15 दिनों के अंदर सीबीआई जांच की उनकी मांग नहीं मानी गई तो इस मांग को लेकर वे अदालत में भी जाएंगे. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक सुशांत को न्याय नहीं मिल जाता तब तक अभिनेता सलमान खान, करण जौहर की फिल्मों को भी अब बिहार में प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा. Also Read - बंगाल चुनाव से पहले हेमा मालिनी का बड़ा बयान, कहा- भाजपा के सत्ता में आने पर ही लोगों का जीवन सुधरेगा

इससे पूर्व कांग्रेस के नेता और पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार भी इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है. भाजपा नेता और अभिनेता मनोज तिवारी भी इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग कर चुके हैं. उल्लेखनीय है कि सुशांत ने 14 जून को मुबई के बांद्रा स्थित आवास पर गले में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी.