दीपिका पादुकोण मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता की बड़ी समर्थक हैं. वह मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों के आसपास रूढ़िवादी सोच को तोड़ने में यक़ीन रखती है और यहां तक ​​कि उनका एक संगठन भी है जो मानसिक बीमारियों से पीड़ित लोगों की मदद करने के प्रति समर्पित है. विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के अवसर पर, उनकी चिकित्सक डॉ अन्ना चांडी ने दीपिका पादुकोण के साथ अपने अनुभव के बारे में कुछ जानकारी साझा की है.

Bala Trailer Released: आयुष्मान खुराना की फिल्म बाला का ट्रेलर रिलीज, हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे

“लगभग 25 से अधिक वर्षों से एक चिकित्सक के तौर पर काम करते हुए, मुझे पता है कि उनकी कथा और गहरी कमजोरियों को साझा करने के लिए कितने सेशन की आवश्यकता होती है. यहाँ एक व्यक्ति था, जो दर्द में होने के बावजूद जोखिम उठाने के लिए तैयार था. ‘आज आप जो दर्द महसूस कर रहे हैं, कल वही दर्द आपको ताकत देगा.’ कुछ ऐसी ही है दीपिका पादुकोण. हालांकि जब वह 2014 में मेरे पास आईं थी, उस वक़्त वह डिप्रेशन से जुंझ रही थी, ऐसे में हमारी बातचीत के पहले ही कुछ मिनटों में मेरे साथ उनके रॉ और कमजोर व्यक्तित्व से मैं बेहद दंग थी.”, डॉ अन्ना चंडी ने दीपिका की वेबसाइट पर साझा करते हुए कहा.

मोनालिसा ने बिकिनी पहनकर पानी में लगाई ‘आग’, देखिए कातिलाना तस्वीर

जब से दीपिका पादुकोण ने लिव लव लाफ फाउंडेशन की स्थापना की, अभिनेता और लोकोपकारक व्यक्ति, मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने और मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित लोगों के लिए संसाधन जुटाने के लिए नए तरीके तलाश रहे हैं.

फिल्मों की बात करें तो, दीपिका जल्द मेघना गुलज़ार की ‘छपाक’ में नज़र आएंगी, जो एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन पर आधारित है. इसके अलावा, वह कबीर खान की ’83’ में भी दिखाई देंगी. दीपिका इस फिल्म में कपिल देव की पत्नी रोमी देव की भूमिका निभा रही है. दीपिका अपने दोनों आगामी प्रोजेक्ट ‘छपाक’ और ’83 में बतौर निर्माता भी भागदौड़ संभाल रही है.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.