नई दिल्ली : दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) की फिल्म ‘छपाक’ (Chhapaak) उनके जेएनयू (Jawaharlal Nehru University) जाने के बाद से लगातार विवादों में घिरी है. दीपिका के जेएनयू जाने के बाद से ही ‘छपाक’ को लेकर दर्शक दो धड़ों में बंट गए हैं, जिनमें से कुछ दीपिका पादुकोण के विरोध में हैं तो कुछ उनके समर्थन में. इसी बीच दिल्ली उच्च न्यायाल (Delhi High Court) ने वकील अपर्णा यादव को फिल्म में क्रेडिट दिए जाने के मामले पर बड़ा फैसला दिया है.

दिल्ली हाईकोर्ट ने दीपिका पादुकोण-अभिनीत ‘छपाक’ के निर्माताओं को निर्देश दिया कि फिल्म के लिए मुहैया कराई गई जानकारियों के लिए एसिड हमले की पीड़िता लक्ष्मी अग्रवाल की वकील अपर्णा भट्ट को श्रेय दें. यह फिल्म लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन पर आधारित है. अदालत ने निर्देश दिया कि फिल्म के लिए पीड़िता की तरफ से जो जानकारियां दी गईं उनका श्रेय उनकी वकील को दिया जाए.

न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह ने कहा कि 15 जनवरी तक सिनेमाघरों में चल रही फिल्मों के स्लाइड में बदलाव किए जाएं और लक्ष्मी अग्रवाल की वकील अपर्णा भट्ट को फिल्म में क्रेडिट दिया जाए. अदालत ने फिल्म के निर्माता फॉक्स स्टार स्टूडियो की उस याचिका पर यह आदेश दिया, जिसमें पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) के गुरुवार के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें अदालत ने निर्माताओं से अधिवक्ता अपर्णा भट के योगदान को मान्यता देने के लिए कहा था. आपको बता दें कि फिल्म सिनेमाघरों में शुक्रवार को रिलीज हुई.