फिल्म- डेस्पिकेबल मी 3
अवधि- 1 घंटा 45 मिनट
निर्देशक- पियरे कॉफ़िन, काइल बाल्डा
कास्ट- स्टीव कैरेल, क्रिस्टन विग, ट्रे पार्कर
रेटिंग- 2.5/5Also Read - रिव्यू-अपने भीतर के ‘कसाई’ से रूबरू करवाती कहानी

डेस्पिकेबल मी सिरीज़ के पहले दो भाग दर्शकों ने बेहद पसंद किये, जिसके बाद इस जून को इसका तीसरा भाग यानी कि डेस्पिकेबल मी 3 रिलीज़ किया गया. एनिमेटेड फ़िल्में पसंद करनेवालों के लिए डेस्पिकेबल मी सिरीज़ एक अच्छा एंटरटेनमेंट पॅकेज साबित हुई है. इसके किरदार, एनीमेशन और कहानी ने सिर्फ बच्चों को ही नहीं, बल्कि बड़ों को भी अपना दीवाना बना लिया है. आइये जानते हैं डेस्पिकेबल मी की ये नई कड़ी लोगों के लिए क्या लेकर आई है. Also Read - गुलाबो सिताबो फिल्म का केआरके ने उड़ाया जमकर मजाक, शूजीत सरकार ने दिया मजेदार जवाब

कहानी: इस सिरीज़ के पहले दो भागों में आप  ग्रू और उसकी गोद ली हुई तीन बच्चियों, मार्गो, एग्नेस और ईथन से तो मिल ही चुके होंगे. इसके अलावा आपको दूसरे भाग में ग्रू की बीवी लूसी का किरदार भी पसंद आया होगा. सिरीज़ की तीसरी कड़ी में एक और नए किरदार से आप मिलेंगे, जो है ग्रू का जुड़वा भाई ड्रू. फिल्म की कहानी की शुरुआत होती है एक हीरे की चोरी से, जिसे एक विलेन चुराना चाहता है. ग्रू और लूसी सहीं समय पर आकर उस हीरे को बचा लेते हैं, लेकिन चोर उनके हाथ से निकल जाता है. इसी वजह से दोनों को डिटेक्टिव एजेंट की नौकरी से बेदखल कर दिया जाता है. तभी ग्रू को अपने जुड़वा भाई ड्रू के बारे में पता चलता है. ग्रू बच्चों और अपनी पत्नी लूसी को लेकर उससे मिलने जाता है. वहीं दूसरी ओर विलेन हीरे को चुरा लेता है.  इसके बाद दोनों भाई मिलकर किस तरह हीरे को विलेन की गिरफ्त से छुडाते हैं, यह देखना दर्शकों के लिए काफी मनोरंजक साबित हो सकता है. Also Read - Love Aaj Kal 2 Movie Review: उलझी हुई है सारा-कार्तिक की प्रेम कहानी, इम्तियाज अली ये क्या करने लगे हो?

unnamed (1)

अभिनय: फिल्म में स्टीव कैरेल, क्रिस्टन विग, ट्रे पार्कर ने अच्छा रोल निभाया है. फिल्म में स्टीव कैरेल ने फेमस किरदार ग्रू और उसके जुड़वा भाई ड्रू के लिए आवाज़ दी है, वहीं  क्रिस्टन विग ने लूसी और ट्रे पार्कर विलेन ब्रैट के किरदार को निभाया है. हमेशा की तरह ग्रू के कमाल के लहजे को कायम रखते हुए स्टीव कैरेल इस भाग में मजाकिया रोल में दिखाई दिए, वहीं लूसी को बच्चियों की नई मां के रूप में बेहद उम्दा ढंग से दिखाया गया है. वहीं इसके हिंदी वर्जन में फेमस कॉमेडियन अली असगर ने ड्रू के किरदार के लिए आवाज़ दी है.

निर्देशन:  पियरे कॉफ़िन और काइल बाल्डा ने पहले दो भागों की ही तरह सिरीज़ के तीसरे भाग को बनाने की पूरी कोशिश की है, लेकिन वे इसमें कामयाब नहीं हो पाए हैं. फिल्म में कई जगह ऐसी आती है, जब आप बोर होने लगते हैं. फिल्म की कहानी भी पहले दो भागों की तरह एक्साइटिंग नहीं है.

क्यों देंखे: यदि आप डेस्पिकेबल मी सिरीज़ के फैन हैं, तो आपको कहानी की कनेक्टिविटी समझ में आएगी. वहीं एक बार फिर ग्रू के ख़ास किरदार के साथ उसकी बच्चियों को देखना आपके लिए एक अच्छा अनुभव साबित होगा. इसके अलावा अगर आप मिनियंस को देखने के लिए उत्साहित हैं, तो ये फिल्म आपके लिए ही है.