नई दिल्ली: बॉलीवुड की दुनिया में अपने हुस्न और अपनी अदाकारी से लोगों का दिल जीतने वाली एक्ट्रेस दीया मिर्जा (Dia Mirza) इन दिनों एक बार फिर चर्चा में हैं. साल 2000 में मिस इंडिया एशिया पैसिफिक का ताज जीतने वाली दीया अपनी बेबाक राय के लिए भी अक्सर सुर्ख़ियों में रहती हैं. इस बार दीया मिर्जा ने बॉलीवुड में ‘उग्र सेक्सिज्म’ के बारे में ऐसी बातें की हैं जिसने सबको सोचने पर मजबूर कर दिया है. Also Read - Dia Mirza ने प्रेग्नेंसी में छत पर किया योगा और जमकर उठाए डंबल, एक्सरसाइज का वीडियो वायरल

Brut India को दिए एक इंटरव्यू में दीया मिर्जा (Dia Mirza) ने इस मुद्दे पर बड़ी बेबाकी से अपनी बातें रखी. उन्होंने कहा ‘लोग लिखते थे, सोचते थे और sexist सिनेमा बना रहे थे. मैं खुद इस सबका हिस्सा थी.’ एक्ट्रेस का कहना है कि उनकी पहली फिल्म ‘रहना है तेरे दिल में’ में भी सेक्सिज्म था. Also Read - Dia Mirza ने मनाया सौतेली बेटी समायरा रेखी का जन्मदिन, वैभव के साथ नजर आईं एक्सवाइफ सुनैना रेखी- Video


दीया ने अपनी फिल्म का उदहारण देते हुए बताया कि “रहना है तेरे दिल में कामुकता से भरी थी… मैं ऐसे लोगों के साथ एक्टिंग कर रही थी. मैं ऐसे लोगों के साथ काम कर रही थी. एक मैकअप आर्टिस्ट एक आदमी हो सकता है, एक महिला नहीं हो सकती, एक बाल काटने वाली सिर्फ एक महिला हो सकती है…”

दीया ने आगे कहा ‘जिस वक्त मैंने फिल्मों में काम करना शुरू किया था. उस समय में फिल्म के क्रू में 120 से ज्‍यादा की स्‍ट्रेंथ में बस 4 से 5 महिलाएं होती थीं.’ एक्ट्रेस के मुताबिक आज भी हम पुरुषवादी समाज में रहते हैं जहां पुरुषों का ही राज चलता है. दीया ने मुताबिक फिल्म इंडस्ट्री के हर सेक्टर में में पुरुषों की संख्या ज्यादा है इसीलिए यहां सेक्सिज्म ज्यादा है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Dia Mirza (@diamirzaofficial)

बता दें कि मिस इंडिया एशिया पैसिफिक का ताज जीतने के बाद दीया के पास बॉलीवुड फिल्मों की लाइन लग गयी. टंकों ना भूल पाएंगे, दस कहानियाँ, फाइट क्लब, लगे रहो मुन्ना भाई, क्रेजी 4, हम तुम और घोस्ट, कोई मेरे दिल में है जैसी फिल्मों में उन्हें देखा गया.