राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता अभिनेत्री दिव्या दत्ता का मानना है कि जीवन सबसे बड़ा गुरु होता है और यह लोगों को मजबूत इंसान बनने का मौका देता है. दिव्या ने उत्तराखंड के मसूरी में फिल्म और भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (एफटीआईआई) द्वारा तीन दिवसीय फिल्म प्रशंसा पाठ्यक्रम का उद्घाटन किया. अभिनेत्री ने कहा, “मुझे लगता है कि जीवन सबसे बड़ा गुरु होता है. यह आपको मजबूत बनना, परेशानियों का सामना करना और एक परिपक्व इंसान के रूप में विकसित होना सिखाता है.”इस समारोह का आयोजन लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में हुआ. इस उद्घाटन समारोह में दिव्या के अलावा, नसीरुद्दीन शाह और उनकी पत्नी रत्ना पाठक शाह भी मौजूद थीं. Also Read - नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने खोला राज, 'इसलिए बॉक्स ऑफिस पर कमाई में पिछड़ गई मंटो'

बता दें, हाल ही में दिव्या ने एक ट्वीट करते हुए कहा था कि उन्हें प्याज काटने की कला में महारत हासिल करने पर गर्व है. दिव्या ने शनिवार को ट्वीट किया, “आखिरकार, मेरी बहनों के घर, प्याज काटने की कला में महारत हासिल की! वे अब भी हंस रही हैं, लेकिन अब मेरे पास नया कौशल है.” अभिनय की बात करें तो दिव्या नंदिता दास द्वारा निर्देशित फिल्म ‘मंटो’ में जल्द दिखाई देंगी. यह उर्दू लेखक सआदत हासन मंटो पर आधारित बायोपिक है. इसे वर्ष 2018 के कान्स फिल्मोत्सव के लिए भी चुना गया था. हाल ही में उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित भी किया जा चुका है.

दिव्या दत्त की इसी साल एक फिल्म रिलीज हुई थी, ‘ब्लैकमेल’ में शानदार एक्टिंग के लिए उन्हें काफी सराहना भी मिल चुकी है. दिव्या दत्त कई बड़े कलाकारों के साथ काम कर चुकी हैं. उनका अनुभव फिल्म इंडस्ट्री में काफी ज्यादा है.

(इनपुट आइएनएस)

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.