अभिनेत्री जूही चावला का कहना है कि उन्हें नहीं लगता कि उनमें आत्मकथा लिखने का साहस है। जूही ने गुरुवार को दिव्या दत्ता की किताब ‘मी एंड मां’ के विमोचन पर कहा, “जितना मैं हंसती हूं उतना ही रोती हूं। मुझे नहीं पता कि मुझमें आत्मकथा लिखने का साहस है या नहीं।”

अपनी मां की यादें साझा करते हुए जूही ने कहा, “मैं अपनी मां की तरह बनना चाहती हूं। जब वह काम के लिए होटल जाती थीं तो बहुत अच्छे से तैयार होती थीं। मुझे उनकी उपस्थिति पसंद है। जब उन्हें पता चला कि मैं उनके जैसा बनना चाहती हूं तो उन्होंने मुझसे कहा कि कुछ दिलचस्प करो।”

जूही ने अपने मॉडलिंग कॅरियर की पहली कमाई के बारे में याद किया। उस अनुबंध से उन्हें 1000 रुपये मिले थे, जो उन्होंने मां को दे दिए।

उन्होंने कहा, “मेरी मां उस दिन बहुत भावुक हो गई थीं। मैं सिर्फ 11 वर्ष की थी और मैंने पहली कमाई की।”

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में कोलकाता नाइट राइडर्स टीम की सह-मालिक जूही ने कहा कि फिलहाल वह आगामी टूर्नामेंट पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं।

जूही, नागेश कुकुनूर द्वारा निर्देशित वेब श्रृंखला में भी काम कर रही हैं।

जूही इसमें एक रक्षामंत्री के रूप में नजर आएंगी। उन्होंने कहा, “मैं अगले सप्ताह से वेब श्रृंखला की शूटिंग शुरू करने जा रही हूं।”