बीहड के बागी ये कहानी है बुंदेलखंड में मशहूर डकैतों की जो कभी नायक होता है लेकिन वक्त और हालात उसे खलनायक बना देते है. एमएक्स में इस कहानी को दिखाया गया है और उनकी हीरो से विलेन बनने की कहानी को दर्शाया गया है. इस पूरी कहानी में पूरे पांच एपिसोड है जिसमें बागी बनने की कहानी है और जिसने अपने परिवार के खिलाफ अत्याचारों के खिलाफ विद्रोह किया.Also Read - Raktanchal 2 Trailer: इस बार खेल रणनीति का नहीं राजनीति का है, किसके सिर पर लटकेगी तलवार? VIDEO

1998 से कहानी की शुरूआत होती है और ये कहानी है शिव कुमार की जो विद्रोह बनकर उठा औऱ बाद में बुंदेलखंड के चित्रकूट में खूंखार डकैत के रूप में सामने आया. परिस्थितियों ने उन्हें एक अलग रंग रुप दिया और वो डकैत बनकर अपना जिवन शुरू लिया लेकिन एक फर्क था वो रॉबिनहुड थे जो गरीबों का मसीहा था और उनके लिए काम करता था. उसे गरीबों के लिए मसीहा के रूप में प्रतिष्ठित किया गया जिस वजह से पुलिस,नेता और बाकि लोग उनके अधिन हो गए. Also Read - Bhaukaal Season 2 Trailer: मोहित रैना पुलिस अफसर का भौकाल, मुजफ्फरनगर में दुश्मनों की होगी आखिरी रात

रितम श्रीवास्तव, जिन्होंने अपनी आखिरी डिजिटल एमएक्स ओरिजिनल सीरीज़ के लिए वाहवाही हासिल की, उन्होंने ही इसका भी निर्देशन किया है. उन्होंने कहा, “भारत कहानियों का खजाना है, जिस तरह की कथाएँ सबसे तीखे कोनों में मिल सकती हैं.यह कहानी बुंदेलखंड से जुड़ी औऱ सच्ची घटना पर आधारिता है. इस तरह के काम करने में औऱ शूट करने में मजा आता है और आप जितना गहरा काम करते हैं आपको उतना ही मजा आता है. इस कहानी के लिए हमने काफी अध्यन किया है ताकि लोग इससे जुड़ाव महसूस कर सकें. Also Read - 'अश्लील' एक्टर Kapil Khadiwala के लिए मुश्किल था सेक्स एडिक्ट होना, बोलें- कुंवारा और...

इस कहानी में मुख्य भूमिका में है दिलीप आर्य, लौरा मिश्रा, इंद्रनील भट्टाचार्य, जीतू शास्त्री, रवि खानविलकर, शशि चतुर्वेदी, पारुल बंसल, विनोद नाहरडीह, प्रणय नारायण, मनोज जोशी और नंदराम आनंद की प्रमुख भूमिकाएँ हैं और इसे आप मुफ्त में एमएक्स प्लेयर पर देख सकते हैं.