प्रसिद्ध फिल्म व टीवी शो निर्माता एकता कपूर का कहना है कि एक आजाद विचार रखने वाली महिला से प्यार करना आसान है, लेकिन उससे शादी करना पूरी तरह से अलग है और वेब सीरीज ‘कहने को हमसफर हैं 2’ में इसे ही दर्शाया गया है. हाल ही में सरोगेसी के जरिए मां बनीं एकता कपूर ने लेखिका व पत्रकार अनुपमा चोपड़ा के साथ अपने काम व व्यक्तिगत जीवन को संभालने और मां बनने के बाद आर बदलावों के बारे में बात की.

Kesari Trailer: ‘केसरी’ की तरह दहाड़े अक्षय कुमार, देखकर कांप उठे 10000 अफगानी

एकता कपूर के साथ ‘कहने को हमसफर हैं 2’ के कलाकार अभिनेता रोनित रॉय और अभिनेत्री मोना सिंह भी मौजूद थे.

एकता ने कहा कि एक आजाद विचार रखने वाली महिला से प्यार करना आसान है, लेकिन उससे शादी करना पूरी तरह से अलग है और इस शो में वही दशार्या गया है. इस सीजन में दिखाया जाएगा कि कैसे दिल जो चाहता था उसने वो हासिल किया, लेकिन क्या वे इससे खुश रह पाएंगे.

उन्होंने कहा कि यह सीरीज नाजुक रूप से परिपक्व रिश्तों की जटिलताओं को बुनती है.

‘कहने को हमसफर हैं 2’ में प्यार और जिंदगी से परे एक दिलचस्प पहलू पेश किया गया है. एकता ने कहा कि महिलाए इन पात्रों के साथ खुद को जुड़ा हुआ महसूस कर रही हैं और सीरीज को देखने के लिए ऐप डाउनलोड कर रहीं हैं.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.