मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत के निधन से मनोरंजन जगत में शोक और निराशा तैर रही है. हर कोई अब तक इस हादसे पर यकीन नहीं कर पा रहा है मगर सच तो ये है कि इस दिवंगत अभिनेता का शरीर पंचतत्व में विलीन भी हो गया है. सुशांत के सुसाइड ने बहुत लोगों को झटका दिया है. सुशांत को स्टारडम की तरफ ले जाने वाली मशहूर निर्माता एकता कपूर ने सोमवार को अपने एक इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए उन्हें याद किया और उनका वर्णन एक असाधारण प्रतिभा के रूप में किया. Also Read - हो गया कन्फर्म! आपके ये फेवरेट सीरियल्स इस दिन से नए एपिसोड के साथ करेंगे वापसी

सुशांत ने बालाजी टेलीफिल्म्स के धारावाहिक ‘किस देश में है मेरा दिल’ के साथ बतौर टेलीविजन अभिनेता अपने करियर की शुरुआत की थी और बाद में ‘पवित्र रिश्ता’ से उन्होंने खूब लोकप्रियता हासिल की. सुशांत के साथ ली गई अपनी कई तस्वीरों के एक कोलाज को साझा करते हुए एकता ने लिखा, “मैं जितना भी साझा कर सकती हूं वह हमारी इन तस्वीरों के साथ बालाजी टेलीफिल्म्स की तरफ से तुम्हारे लिए एक श्रद्धांजलि है. इससे मैं यह सोचने पर मजबूर हो रही हूं कि क्या हम वास्तव में उनके साथ हैं, जिनसे हम प्यार करते हैं या जिन्हें हम चाहते हैं!” Also Read - TV दर्शकों के लिए बड़ी खुशखबरी, इन फेमस सीरियलों की शूटिंग दोबारा चालू, देखें सीधे सेट से खास Photos

  Also Read - 'नागिन 4' की शूटिंग शुरू, सेट पर से Rashami Desai का ये वीडियो हो रहा है VIRAL   

View this post on Instagram

 

All I can share is a #balajitelefilms tribute to to u with few of our pics! This made me think if we. Really are there for those we love or care for ! Do we know ppl or do just judge d ones who don’t follow norms! U never spoke about ur next hit always about us exploring astrology astronomy META PHYSICS… the meaning of SHIVA ..and discoveries of stars at NASA ! Odd for an actor ! Odd different genius bon voyage! From u being spotted at a prihvi cafe by d balaji team for tv to u becoming India’s brightest star u did it all! We will celebrate u everyday ! Hope ur with ur mom now who u missed so much !

A post shared by Erk❤️rek (@ektarkapoor) on

उन्होंने आगे लिखा “क्या हम एक इंसान को जानते भी हैं या सिर्फ उन्हें जज ही करते हैं, जो सामाजिक दायरों या नियमों का पालन नहीं करते हैं! तुमने कभी अपने अगले कदम के बारे में खुलकर बात नहीं की. हमेशा ज्योतिष खगोल विज्ञान मेटा फीजिक्स..शिव का अर्थ और नासा में सितारों की खोज की ही बातें करते रहे. तुम एक बेहद ही अलग किस्म के असाधारण प्रतिभाशाली व्यक्ति रहे हो. बालाजी की टीम के द्वारा पृथ्वी कैफे में नोटिस किए जाने से लेकर देश का एक चमकता हुआ सितारा बनने तक, तुमने सारी चीजें कीं. हम हर दिन तुम्हारा जश्न मनाएंगे. उम्मीद करती हूं कि अब तुम मां के साथ होगे, जिन्हें तुम इतना याद करते थे.”

सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई स्थित अपने आवास में रविवार सुबह फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. वह महज 34 साल के थे.