मुंबई के कारोबारी राज कुंद्रा ने बुधवार को बताया कि 2,000 करोड़ रुपये के बिटकॉइन मामले की जांच में गवाह के तौर पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने उन्हें बुलाया था. बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति कुंद्रा मंगलवार को मुंबई स्थित ईडी के दफ्तर पहुंचे थे. Also Read - सरोगेसी को लेकर शिल्पा शेट्टी ने किया खुलासा, इस बीमारी के कारण कई बार हुए थे मिसकैरेज

कुंद्रा ने एक बयान में कहा, “मुझे ईडी ने महज गवाह के तौर पर बुलाया था.” मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ईडी ने उनसे कई घंटे पूछताछ की. हालांकि इस रिपोर्ट पर सफाई देते हुए कुंद्रा ने अपने बयान में कहा, “मुझे ईडी ने महज गवाह के तौर पर बुलाया था. संबंद्ध विनियामक प्राधिकरणों द्वारा मामले में जांच चल रही है और मैं कानून प्रवर्तन एजेंसी को पूरा सहयोग करने के लिए प्रतिबद्ध हूं.”

खेल में रूचि रखने वाले कारोबारी कुंद्रा का कानून से वास्ता पड़ना यह कोई पहला वाकया नहीं है. इससे पहले राजस्थान रॉयल्स आईपीएल टीम में अपने निवेश के सिलसिले में वह विभिन्न प्राधिकारों के समक्ष उपस्थित हो चुके हैं. टीम के कुछ सदस्य क्रिकेट में स्पॉट फिक्सिंग मामले में भी शामिल थे.

कुंद्रा ने कहा, “अधिकारियों ने आरोपी अमित भारद्वाज से परिचय होने के कारण कुछ प्रोटोकॉट के तहत मुझे बुलाया.” उन्होंने कहा कि भारद्वाज उनके पोकर लीग में एक टीम को खरीदना चाहते थे, इसलिए उन्होंने उनसे संपर्क किया. ईडी का आरोप है कि इस स्कीम में तकरीबन 8,000 निवेशकों के करीब 2,000 करोड़ रुपये डूब गए हैं. पुणे पुलिस ने बाद में भारद्वाज और उनके भाई विवेक को मामले में गिरफ्तार किया था.