सैफ अली खान (Saif Ali Khan) की फिल्म ‘तान्हाजी’ (Tanhaji: The Unsung Warrior) बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही है. सैफ ने फिल्म में निगेटिव किरदार निभाया है. हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में सैफ अली खान के ‘इंडिया की अवधारणा’ वाले बयान पर बवाल मच गया है. सैफ ने अपने एक बयान में तान्हाजी के बारे में बात करते हुए कहा था, फिल्म में जो दिखाया गया है, वो इतिहास नहीं है.” इसके साथ ही उन्होंने कहा था, “मुझे नहीं लगता कि ब्रिटिश से पहले इंडिया की कोई अवधारणा थी.” इस बयान के बाद उन्हें ट्रोल किया जा रहा है. Also Read - केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल की बेटी Arushi Nishank के जलवे, इस फिल्म से करेंगी डेब्यू, देखें खूबसूरत तस्वीरें

Birthday: क्यों टूट गया था सुशांत सिंह का अंकिता लोखंडे से रिश्ता? मरने के बाद बुलाई गई थी ‘आत्मा’, पढ़िए रोचक किस्से Also Read - Saina Trailer: 'नंबर वन के सपने पालना खतरे से कम नहीं होता', Parineeti की 'साइना' मार देगी

वहीं बेबाकी से अपनी बात कहने वाली एक्ट्रेस कंगना रनौत ने इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए Zee News को बताया कि अगर सैफ की माने की माने की ब्रिटिश से पहले इंडिया की कोई नहीं अवधारणा थी. तो फिर महाभारत क्या था? भारतवर्ष नहीं था तो पांच हजार साल पहले जो महाकाव्य लिखा गया था वो क्या था? वेद व्यास ने क्या लिखा था? कंगना ने कहा-कुछ लोग हैं जिन्होंने अपनी पसंद के अनुसार नेरेटिव बनाए हुए हैं लेकिन श्रीकृष्ण जिस महाभारत में थे. वो भारत तो था. तभी तो वो महान था. अलग-अलग राज्यों की जो एक पहचान थी वो भारत था. Also Read - Khatron Ke Khiladi 11 में नजर आएंगे अभिनव और रुबीना? रोहित शेट्टी के शो में करेंगे हर खतरे का सामना

कंगना ने कहा कि वो कभी भी, कुछ भी हो. टुकड़े-टुकड़े गैंग के साथ खड़े नहीं हो सकतीं. जो होना चाहता है, वो हो. ये उनका अधिकार है उस पर हमारा कोई टिप्पणी करना अच्छी बात नहीं है. बता दें, कंगना रनौत आजकल अपनी फिल्म पंगा के प्रमोशन में बिजी हैं. डायरेक्टर अश्विनी अय्यर तिवारी के निर्देशन में बनी इस फिल्म में कंगना रनौत, रिचा चड्ढा, जस्सी गिल और नीना गुप्ता हैं. ये फिल्म 24 जनवरी को रिलीज होगी.