शुक्रवार 7 अप्रैल को  रिलीज होने वाली फिल्म ‘लाली की शादी में लड्डू दीवाना’ को लेकर इंडिया.कॉम ने नसीरुद्दीन शाह के बेटे विवान शाह से विशेष बातचीत की. Also Read - इस काम को करके बहुत खुश हैं वीर दास, बोले- इसके बाद आपके पास खोने के लिए कुछ नहीं होता

आपने ये कहावत तो सुनी होगी ‘बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना’. लेकिन यहां लाली की शादी में लड्डू दीवाने हो गए हैं. फिल्म में लड्डू का किरदार निभाने वाले विवान शाह ने बताया कि ये लड्डू बड़ा ही नटखट है. इसका दिल किसी और की दुल्हनियां पर आ गया है. लड्डू कैसे किसी और की दुल्हन को अपना बनाता है, और कितना सफल होता है यही फिल्म की कहानी है. Also Read - 'गे' बनकर गुजारी हैं कई रातें, देखने वाली है अक्षय ओबेरॉय की Flesh

फिल्म पोस्टर

फिल्म पोस्टर

फिल्म में एक खास बात है कि लाली (अक्षरा हसन) और लड्डू (विवान शाह) एक दूसरे के प्यार में हैं. यह प्यार परवान पर पहुंचता है और लाली प्रेग्नेंट हो जाती है. असल कहानी यही से शुरु होती है. Also Read - डायरेक्टर के इंडस्ट्री में 10 साल हुए पूरे, अभिषेक ने कहा- सोते शेर को मत छेड़ो

इस सीन को लेकर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता विरोध भी कर रहे हैं. क्योंकि हिंदू धर्म और हमारा समाज शादी से पहले प्रेग्नेंट होने की इजाजत नहीं देता है. विरोध करने वालों का कहना है कि इस तरह के किरदार से भारतीय संस्कृति का अपमान हुआ है. देखिए वीडियो

 

इस बारे में जब हमने विवान से उनकी प्रतिक्रिया जानने की कोशिश तो उन्होंने कहा, बहुत ही अफसोस की बात है ऐसा विरोध हो रहा है. क्योंकि फिल्म में हमने ऐसा कुछ भी नहीं दिखाया जिससे लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचे. ये एक ऐसी महिला कि कहानी है जो अपनी शर्तों पर जिंदगी को जीती है. उसका ब्वॉयफ्रेंड उसे अपनाता नहीं है.

ऐसे हालात में वो खुद ही बच्चे को जन्म देना चाहती है और उसे पालने के लिए तैयार है. ये तो अच्छी बात है ना, एक औरत अकेले जीने का दम रखती है. देखिए फिल्म का ट्रेलर


लड्डू से जब हमने सवाल किया कि अगर असल जिंदगी में आपके साथ ऐसी कोई घटना हो जाती है और लड़की शादी से पहले ही प्रेग्नेंट हो जाती है तो ऐसी स्थिति में आप क्या करेंगे.

विवान ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया कि वो पूरी तरह से इस जिम्मेदारी को संभालेंगे. असल जिंदगी में विवान ‘लड्डू’ नहीं है, जो जिम्मेदारी से भागता है.

आपको बता दें हाल ही में फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ है. फिल्म में अक्षरा हसन, गुरमीत चौधरी, विवान शाह और रवि किशन और सौरभ शुक्ला, संजय मिश्रा भी हैं.

फिल्म के लेखक निर्देशक मनीष हरिशंकर हैं बतौर निर्देशक यह उनकी दूसरी फिल्म हैं.