Famous singer Sukhwinder objection on title of Talent hunt says we are not here to hunt animals- भारत में कई शैलियों में गाना रिकॉर्ड करने वाले गायक सुखविंदर सिंह को लगता है कि समाज और देश की भलाई के लिए काम करना सभी का कर्तव्य है, न कि सिर्फ किसी विशेष समूह का. वह कहते हैं कि वह अपने काम के माध्यम, यानी संगीत से उस जिम्मेदारी को पूरा करने की कोशिश करते हैं. उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि संगीत के कई शेड्स हैं, जैसे मनोरंजन, आध्यात्मिकता और सामाजिक सेवा. मैंने अपने करियर में खेल, प्रेरक, नृत्य और रोमांटिक गाने गाए हैं, इसलिए मुझे लगता है कि पहल के साथ जुड़ना मेरी जिम्मेदारी है. हमें यह नहीं सोचना चाहिए कि सिर्फ एक निश्चित समूह या पेशेवरों को देश की भलाई के लिए काम करना चाहिए.”Also Read - देश के प्रधानमंत्री बनने की चाहत रखने वाले Abhijeet Bichukale की बिग बॉस में धांसू एंट्री, इस बात से खफा हुए सलमान खान

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि समाज और देश के प्रति हम सभी की कुछ जि़म्मेदारी है, और मुझे खुशी है कि मैं अपने काम के माध्यम से उस जि़म्मेदारी को पूरा करने में सक्षम रहा हूं, यह संगीत का निर्माण करना रहा है.” Also Read - Tadap Second Trailer: मोहब्बत की हद को पार कर गए Sunil Shetty के बेटे Ahan Shetty, किया Passionate Kiss

Also Read - 'कित्थे चलिए नी कित्थे चलिए', मुस्कुराते हुए तंजानिया के फैंस ने गाया गाना, Kiara Advani ने शेयर किया वायरल वीडियो

शो के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि हमें इसे टैलेंट हंट कहना चाहिए, क्योंकि हम यहां पर किसी भी जानवर के लिए शिकार पर नहीं आए हैं. इसलिए, हमें इसे एक प्रतिभा प्रतियोगिता कहना चाहिए. मुझे लगता है कि जम्मू-कश्मीर के प्रत्येक नागरिक को अपने जीवन को शांति और खुशी से जीने का पूरा अधिकार है.”

उन्होंने कहा, “हम इस शो के माध्यम से और हम जिस गाने की शूटिंग कर रहे हैं, उसके माध्यम से जम्मू और कश्मीर के बच्चों और हमारे देश के लोगों की शांति और समृद्धि के लिए प्रार्थना कर रहे हैं. हम अपने शो के माध्यम से युवा कश्मीरियों की प्रतिभा को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहे हैं. शो में एंटरटेनमेंट फैक्टर है, लेकिन हम उस सामान्य ट्विस्ट को इसमें नहीं ला रहे हैं, जो हमें आमतौर पर टेलीविजन रियलिटी शो में देखने मिलता है.”

जम्मू शहर के ऑडिशन 7 और 8 जनवरी को होंगे, जबकि श्रीनगर के ऑडिशन 10 और 11 जनवरी को होंगे. अंतिम परफॉर्मेंस 18 जनवरी को श्रीनगर में होगा, जहां विजेता प्रतिभाएं सुखविंदर सिंह के साथ प्रस्तुति देंगें. सभी प्रतियोगियों का जम्मू और कश्मीर का स्थायी निवासी या केंद्र शासित प्रदेश में जन्मा होना आवश्यक है और प्रतिभागियों की उम्र 18 से 35 वर्ष की होनी चाहिए.