भोजपुरी फिल्म ‘आर पार के माला चढ़इबो गंगा मइया’ के लेखक और निर्देशक गोपाल एस. गुप्ता का कहना है कि इस फिल्म में न केवल फूहड़ता से परहेज किया गया है, बल्कि इसमें गंगा नदी के स्वच्छ और निर्मल बनाने का संदेश भी दिया गया है. उन्होंने यहां बुधवार को बताया कि इस फिल्म के जरिए दर्शक अपनी माटी की सुगंध को महसूस कर सकते हैं.Also Read - दिल थामकर देखिए मोनालिसा-निरहुआ के हॉट गाने का ये वीडियो, Youtube पर मचा रहा है तहलका

उन्होंने बताया, “इस फिल्म की एक और खास बात यह है कि इसकी कहानी भारत सरकार के गंगा सफाई अभियान को भी ‘सपोर्ट’ करती है. ‘नमामि गंगे मिशन’ को फिल्म के जरिए लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए भी एक संदेश है.” Also Read - रिलीज से पहले ही सुर्खियों में आई निरहुआ की नई फिल्म 'फसल', बिना अन्न के इस अन्नदाता की दर्दनाक कहानी

‘आर पार के माला चढ़इबो गंगा मइया’ इसी महीने रिलीज होने वाली है. Also Read - Saiya Arab Gaile Na First Look: खेसारीलाल गए परदेस, रो पड़ीं काजल राघवानी

फिल्म के निर्माता देवेंद्र वर्मा और टी. राजेश ने कहा, “हमने एक समाज और परिवार को केंद्र में रखकर एक ऐसी फिल्म बनाई है, जिससे आधी आबादी यानी महिलाओं का जुड़ाव फिर से भोजपुरी सिनेमा से हो सके.”

उन्होंने कहा कि इस फिल्म की रिलीज के दिन महिलाओं को सिनेमाघारों तक लाने के लिए पहले शो का टिकट महिलाओं के सम्मान में नि:शुल्क होगा, जिससे वे एक बार इस फिल्म को देख सकें और इसके बारे में लोगों को बता सकें.

देवा फिल्म एंटरटेनमेंट के बैनर तले बनी फिल्म ‘आर पार के माला चढ़इबो गंगा मइया’ की मुख्य भूमिका में शिवम तिवारी, श्वेता मिश्रा, दीपेश वर्मा, समर्थ चतुर्वेदी, माया यादव, गोपाल राय, सुमांती बनर्जी, अभिलाषा, खुशी गुप्ता, मनोज अर्पण, गोपाल गुप्ता और सोनू पांडेय हैं. श्वेता मिश्रा और दीपेश वर्मा इस फिल्म के जरिए अपने अभिनय करियर की शुरुआत कर रहे हैं.

फिल्म के गीत आतिश जौनपुरी और गोपाल एस. गुप्ता ने लिखे हैं. फिल्म में सुभाष कन्नौजिया ने संगीत दिए हैं, जबकि राहुल सक्सेना छायाकार हैं.

–आईएएनएस