पेशावर. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की दो दिग्गज हस्तियों का जिक्र करें तो उसमें पहला नाम शोमैन राजकपूर (Raj Kapoor) का आता है, वहीं दूसरा ट्रेजडी-किंग दिलीप कुमार (Dilip Kumar) का. ताज्जुब की बात यह है कि साल 2018 में इन दोनों वेटरन एक्टरों के ‘घर’ मीडिया की सुर्खियों में आए. इसी साल अगस्त में राजकपूर के स्टूडियो- आरके स्टूडियो (RK Studio) में शूटिंग के दौरान आग लगी, जिसके बाद कपूर खानदान ने हिंदी फिल्मों की इस विरासत को बेचने का फैसला कर लिया. दूसरी ओर, पिछले हफ्ते दिलीप कुमार भी अपने घर को लेकर चर्चा में आए, जब उनकी पत्नी सायरा बानो ने पीएम नरेंद्र मोदी और महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस से गुहार लगाई कि मुंबई का एक भूमाफिया इस बॉलीवुड अभिनेता का घर कब्जाने की कोशिश कर रहा है. बहरहाल, हिंदी फिल्मों के इन महान अभिनेताओं के भारत में स्थित घरों पर भले मुसीबत आन पड़ी हो, लेकिन पड़ोसी देश पाकिस्तान इन लोगों की यादों को संजो रहा है. पाकिस्तान सरकार इन दोनों अभिनेताओं के पुश्तैनी घरों को राष्ट्रीय धरोहर का दर्जा दे चुकी है. लेकिन अब पीएम इमरान खान (Imran Khan) सरकार इन इमारतों को खरीदने की योजना बना रही है. Also Read - पाकिस्तान में बीजेपी: इमरान सरकार ने विपक्षी पार्टी पीडीएम से पूछा, क्या भाजपा के एजेंडे पर काम कर रहे हैं?

Also Read - Lockdown Latest News: कोरोना से डरा पाकिस्तान, लोगों को दी चेतावनी-फिर लगा देंगे लॉकडाउन

कपूर खानदान ने लिया ऐतिहासिक फैसला, दिल पर पत्थर रखकर बेचेंगे RK स्टूडियो Also Read - पाकिस्तान में मचा सियासी घमासान- आमने सामने आई सेना और पुलिस, छुट्टी पर चले गए अधिकारी

पाकिस्तान में खैबर-पख्तूनख्वा प्रांतीय सरकार राष्ट्रीय धरोहर घोषित की जा चुकी बंटवारे से पहले की 25 पैतृक संपत्तियों को खरीदने की योजना बना रही है. इन संपत्तियों में हिंदी सिनेमा के दिग्गज कलाकार राजकपूर और दिलीप कुमार का पैतृक घर भी शामिल है. सूत्रों ने यह जानकारी दी. कपूर हवेली के नाम से प्रसिद्ध राजकपूर का पैतृक घर किस्सा ख्वानी बाजार में स्थित है. इसका निर्माण ब्रिटिश कालीन भारत के विभाजन से पहले 1918 और 1922 के बीच हुआ था. हवेली का निर्माण उनके दादा दीवान बशेश्वरनाथ कपूर ने कराया था. राजकपूर और उनके चाचा त्रिलोक कपूर का जन्म इसी इमारत में हुआ था. प्रांतीय सरकार ने इसे राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया है.

R.K. Studio की कहानी: फिल्मों का कारखाना और होली-दिवाली की पार्टियां, सब रहेंगे याद

R.K. Studio की कहानी: फिल्मों का कारखाना और होली-दिवाली की पार्टियां, सब रहेंगे याद

इसके अलावा मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार का 100 साल से अधिक पुराना पैतृक घर पेशावर के किस्सा ख्वानी बाजार में स्थित है. यह घर जर्जर स्थिति में है और नवाज शरीफ सरकार ने 2014 में संघीय पुरावशेष अधिनियम के तहत इसे राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया था. आपको बता दें कि बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर ने कुछ महीने पहले पाकिस्तान की सरकार से अनुरोध किया था कि कपूर खानदान के पुराने घर को म्यूजियम में तब्दील कर दिया जाए. उस समय पाकिस्तान सरकार ने ऋषि कपूर की मांग पर विचार करने का आश्वासन दिया था. अब जबकि पाकिस्तान सरकार राजकपूर और दिलीप कुमार के पुश्तैनी घरों को खरीदने की योजना बना रही है, इससे यह उम्मीद जगी है कि सरहद पार हिंदी फिल्मों के इन दोनों महान अभिनेताओं की पुरानी यादें दोनों मुल्कों के लोगों के लिए जिंदा की जा सकेंगी.

(इनपुट – एजेंसी)