हिंदी फिल्म जगत का एक ऐसा गायक जिसके किशोर कुमार के नगमों ने किसका दिल नहीं चुराया? उन्होंने लाखों के दिलों पर राज किया। उनकी मधुर आवाज का जादू लोगों के सिर चढ़ कर बोला, और आज भी बोल रहा है। चार अगस्त, 1929 को जन्मे आभास कुमार ने फिल्मी दुनिया में अपनी पहचान किशोर कुमार के नाम से बनाई। वह अपने भाई बहनों में सबसे छोटे थे। आज के इस दौर में किशोर कुमार के गाये हुए गीत जब रेडियो, टीवी, अथवा पार्टी में बजते हैं तो लोग उस गाने को सुनकर मदहोश हो जाते हैं। चलिए किशोर कुमार के जन्मदिन पर हम आपको सुनातें है उनके जीवन से जुड़ी कुछ बाते। यह भी पढ़ें: किशोर दा की याद में कलाकारों ने साझा किए उनके गाने 

1- किशोर कुमार का जन्म मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में गांगुली परिवार में 4 अगस्त 1929 को जन्म हुआ था उनके पिता का नाम कुंजालाल गांगुली और माता का नाम गौरी देवी था।

2- मशहूर अभिनेता अशोक कुमार उनके सबसे बड़े भाई थे। अशोक कुमार से छोटी उनकी बहन और उनसे छोटा एक भाई अनूप कुमार था।

3- किशोर कुमार ने इन्दौर के क्रिश्चियन कॉलेज से पढ़ाई की थी। उनकी आदत थी कॉलेज की कैंटीन से उधार लेकर खुद भी खाना और दोस्तों को भी खिलाना

4- किशोर कुमार के फिल्मी करियर की शुरुआत एक अभिनेता के रूप में वर्ष 1946 में फिल्म ‘शिकारी’ से हुई।

5- किशोर कुमार की आवाज राजेश खन्ना पर बेहद जमती थी। राजेश फिल्म निर्माताओं से किशोर से ही अपने लिए गीत गंवाने की गुजारिश किया करते थे।

6- किशोर कुमार ने 1975 में फिल्म ‘अमानुष’ के गीत ‘दिल ऐसा किसी ने मेरा’ के साथ ही 1978 में ‘डॉन’ के गीत ‘खाइके पान बनारस वाला’ के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड से नवाजा गया था।

7- किशोर कुमार ने चार शादियां की। उनकी पहली शादी रुमा देवी से हुई थी, इसके बाद, उन्होंने मधुबाला के साथ शादी रचाई लेकिन 9 साल बाद मधुबाला ने दुनिया को अलविदा कह दिया। किशोर ने 1976 में अभिनेत्री योगिता बाली के साथ शादी की और आखरी शादी लीना चंद्रावरकर से की।

8 – एक दौर ऐसा भी आया जब इमरजेंसी के दौरान इंदिरा गांधी ने क्यों बैन करवाए थे किशोर कुमार के गाने

9 – 18 अक्टूबर, 1987 को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। उन्हें उनकी मातृभूमि खंडवा में ही दफनाया गया, जहां उनका मन बसता था।