Shabana Azmi Birthday Special Know Love Story: 18 सितंबर 1950 को जन्मीं अभिनेत्री शबाना आजमी (Shabana Azmi) कल 71 वां जन्मदिन मनाएंगी. शबाना ने मशहूर शायर कैफी आजमी के यहां जन्म लिया था, उनके भाई बाबा आजमी एक सिनेमेटोग्राफर हैं. बात दें कि शबाना (Shabana Azmi) के पिता मशहूर शायर कैफी आजमी और मां रंगमंच अदाकारा शौकत आजमी थी. शबाना आजमी की लाइफ के कई ऐसे किस्से हैं, जिनके बारे में ज्यादातर लोग नहीं जानते होंगे. तो चलिए आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें.Also Read - थम नहीं रहा है Samantha Ruth Prabhu का गुस्सा, वही काम किया जो Shilpa Shetty ने किया था

30 रुपए प्रति दिन के हिसाब से बेचती थीं कॉफी
शबाना के जन्मदिन पर आइए उस किस्से का बारे में जानते हैं जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं. दरअसल शबाना मां शौकत आजमी की ऑटोबायोग्राफी ‘कैफी एंड आई मेमॉयर’ में उन्होंने लिखा था कि ‘सीनियर कैम्ब्रिज में फर्स्ट डिविजन पास होने के बाद कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले शबाना ने तीन महीने पेट्रोल स्टेशन पर ब्रू कॉफी बेची. इससे उसे 30 रुपए प्रतिदिन मिला करता था, हालांकि उनकी मां को इसकी जानकारी नहीं थी.’ Also Read - Tadap Teaser: सुनील शेट्टी के बेटे अहान की तारा सुतारिया के लिए 'तड़प', इश्क के दरिया में डूब जाएगी!

शेखर कपूर के साथ रिलेशनशिप में थीं शबाना
शबाना आजमी ने एक इंटरव्यू में यह बात कबूल की थी कि वे कई साल ‘बैंडिट क्वीन’ जैसी फिल्मों के डायरेक्टर शेखर कपूर के साथ रिलेशनशिप में रही हैं. शबाना ने यह भी कहा था कि जब उनका ब्रेकअप हो गया था. बात दें कि शबाना ने केवल समांतर सिनेमा में ही अपना लोहा नहीं मनवाया, बल्कि ‘अमर अकबर एंथोनी’, ‘हनीमून ट्रेवल्स’, ‘संसार’ जैसी व्यावसायिक फिल्मों में भी काम कर अपने हुनर की पूरी छाप छोड़ी है. Also Read - Chacha Ki Masti: आर्यन खान पर ऐसा कुछ बोल गए चाचा, सुन लिया तो रातभर हंसेंगे | देखिए ये मजेदार Video

मिल चुका है राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार
‘अंकुर’, ‘अर्थ’, ‘पार’, ‘गॉडमदर’ और ‘खंडहर’ के लिए शबाना को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए प्रतिष्ठित राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से नवाजा गया. जया भादुड़ी अभिनीत फिल्म ‘सुमन’ से शबाना इस कदर प्रभावित हुईं कि उन्होंने फिल्मों में आने का मन बना लिया.

शबाना आजमी और जावदे कैसे आए पास
दरअसल जावेद अख्तर, शबाना आजमी के पिता कैफी आजमी से लिखने के गुर सीखने जाते थे और उसी दौरान शबाना और जावेद एक दूसरे के करीब आए और उन्हें प्यार हो गया. हालांकि शबाना का परिवार इस शादी के खिलाफ था, क्योंकि जावदे पहले से शादीशुदा थे और वो दो बच्चों के पिता भी थे. इसके बाद 1984 में जावेद अख्तर और हनी का तलाक हुआ. इसके बाद शबाना के पैरेंट्स इस शादी के लिए राजी हो गए और दोनों ने शादी रचा ली. शबाना और जावेद के बच्चे नहीं हैं. फऱहान और ज़ोया के साथ शबाना की बहुत अच्छी बॉन्डिंग हैं. अक्सर ये साथ-साथ भी नज़र आते हैं.