नई दिल्ली: अनुभवी अभिनेत्री हेमा मालिनी (Hema Malini) को सदाबहार ब्लॉकबस्टर ‘शोले’ (Shole) में बसंती की भूमिका के लिए हमेशा याद किया जाएगा. अभिनेत्री का कहना है कि यह उनकी अब तक की सबसे चुनौतीपूर्ण भूमिका में से एक है. उन्होंने कहा, “शोले एक संस्कारी फिल्म है, लेकिन मुझे यह जोड़ना होगा कि विभिन्न परिस्थितियों के कारण मैंने सबसे कठिन भूमिकाओं में से एक थी.” Also Read - बंगाल चुनाव से पहले हेमा मालिनी का बड़ा बयान, कहा- भाजपा के सत्ता में आने पर ही लोगों का जीवन सुधरेगा

उन्होंने आगे कहा, “मैं नंगे पैर शूटिंग कर रही थी, और वह भी मई के महीने में बेंगलोर में. जमीन हमेशा बहुत गर्म रहता और नंगे पांव चलना बहुत मुश्किल था, खासकर जब आप दोपहर में शूटिंग कर रहे हों. मौसम ने शूटिंग को सामान्य से थोड़ा मुश्किल बना दिया था, लेकिन कुल मिलाकर, सभी के साथ शूटिंग करने का अनुभव काफी अच्छा रहा.” Also Read - Farmers Protest को लेकर BJP MP हेमा मालिनी बोलीं- किसानों को भ्रमित कर रहा विपक्ष

बता दें कि हेमा मालिनी का फ़िल्मी करियर तमिल फिल्म पांडव वनवासम के साथ 1961 में शुरू हो गया था. हेमा ने तमिल सिनेमा में मिले रिजेक्शन के 4 साल बाद राज कपूर के सामने सपनो के सौदागर से डेब्यू किया था. गौरतलब है कि हेमा ने और भी कई फिल्मे की लेकिन 1975 में उन्हें शोले जैसी ब्लॉक ब्लस्टर का हिस्सा बनने का मौका मिला. शोले फिल्म को सदी की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में गिना जाता हैं.