नई दिल्ली: अनुभवी अभिनेत्री हेमा मालिनी (Hema Malini) को सदाबहार ब्लॉकबस्टर ‘शोले’ (Shole) में बसंती की भूमिका के लिए हमेशा याद किया जाएगा. अभिनेत्री का कहना है कि यह उनकी अब तक की सबसे चुनौतीपूर्ण भूमिका में से एक है. उन्होंने कहा, “शोले एक संस्कारी फिल्म है, लेकिन मुझे यह जोड़ना होगा कि विभिन्न परिस्थितियों के कारण मैंने सबसे कठिन भूमिकाओं में से एक थी.”Also Read - UP Polls 2022: 'मैं हेमा मालिनी नहीं बनना चाहता हूं' जानें RLD चीफ जयंत चौधरी के इस बयान के क्या हैं मायने

उन्होंने आगे कहा, “मैं नंगे पैर शूटिंग कर रही थी, और वह भी मई के महीने में बेंगलोर में. जमीन हमेशा बहुत गर्म रहता और नंगे पांव चलना बहुत मुश्किल था, खासकर जब आप दोपहर में शूटिंग कर रहे हों. मौसम ने शूटिंग को सामान्य से थोड़ा मुश्किल बना दिया था, लेकिन कुल मिलाकर, सभी के साथ शूटिंग करने का अनुभव काफी अच्छा रहा.” Also Read - बीड़ी के बंडल पर दिखी Dharmendra और Hema Malini की फोटो, भड़के एक्टर ने यूं दिया जवाब

Also Read - Hema Malini को आई मां की याद, अनदेखीं तस्वीरों में दिखा प्यार, इस बात का है पछतावा

बता दें कि हेमा मालिनी का फ़िल्मी करियर तमिल फिल्म पांडव वनवासम के साथ 1961 में शुरू हो गया था. हेमा ने तमिल सिनेमा में मिले रिजेक्शन के 4 साल बाद राज कपूर के सामने सपनो के सौदागर से डेब्यू किया था. गौरतलब है कि हेमा ने और भी कई फिल्मे की लेकिन 1975 में उन्हें शोले जैसी ब्लॉक ब्लस्टर का हिस्सा बनने का मौका मिला. शोले फिल्म को सदी की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में गिना जाता हैं.