अहमदाबाद। बॉलीवुड स्टार सलमान खान की आगामी फिल्म का नाम ‘लवरात्रि’ को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. फिल्म का नाम लवरात्रि से बदलकर ‘लवयात्री’ किये जाने के एक दिन बाद, एक हिंदू संगठन ने गुजरात हाई कोर्ट से बुधवार को कहा कि उसे नया नाम मंजूर नहीं है. कुछ हिंदू संगठनों की ओर से फिल्म के नाम पर ऐतराज करने के बाद इसका नाम बदला गया था.

हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचने का दावा

शहर के संगठन ‘सनातन फाउंडेशन’ ने एक जनहित याचिका दायर करके अनुरोध किया कि या तो इस फिल्म का शीर्षक और फिल्म की कुछ सामग्री बदली जाए या इसे हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आधार पर प्रतिबंधित किया जाए.

सलमान खान की ‘लवरात्रि’ के विरोध में आया विश्व हिंदू परिषद, कहा हिंदुओं की भावनाओं के खिलाफ है फिल्म

संगठन ने अदालत से कहा कि फिल्म का नाम इसलिए स्वीकार्य नहीं है क्योंकि यह हिन्दुओं के त्योहार ‘नवरात्रि’ से मिलता जुलता है. जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान, प्रतिवादी निर्माता के वकील ने अदालत में कहा कि याचिका समय पूर्व दायर की गई है क्योंकि फिल्म को अब तक सेंसर बोर्ड से प्रमाणपत्र नहीं मिला है.

आयुष-वरीना की फिल्म

मुख्य न्यायाधीश आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति वी एम पंचोली की पीठ ने फिल्म के निर्माता के वकील को फिल्म की सामग्री के संबंध में निर्देश लेने का निर्देश दिया और पूछा कि सेंसर बोर्ड से प्रमाणपत्र मिलने से पहले इसके प्रोमो जारी कैसे कर दिये गये.

इस फिल्म में सलमान खान के बहनोई आयुष शर्मा और कलाकार वरीना हुसैन ने अभिनय किया है और इसकी कहानी नवरात्रि की पृष्ठभूमि पर है. फिल्म के प्रोमो इन दिनों टीवी पर खूब दिखाए जा रहे हैं और इसके गाने पसंद भी किए जा रहे हैं.