बॉलीवुड एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर की एक के बाद एक दो फिल्में रिलीज होने जा रही है. पहले अक्षय कुमार के साथ ‘टॉयलेट-एक प्रेम कथा’ और फिर आयुष्मान खुराना के संग ‘शुभ मंगल सावधान’. इन दोनों ही फिल्मों में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है. अभिनेत्री भूमि पेडनेकर ने कहा कि मुंबई से होने के कारण वह लिंग समानता व खुले में शौच जैसे सभी सामाजिक मुद्दों से अच्छी तरह वाकिफ हैं. लेकिन भूमि की माने तो उन्हें कभी खुले में शौच जैसी समस्या का सामना करना पड़ा, उन्होंने कहा, “नहीं, मैं शहरी हूं और मुंबई में ही पली बढ़ी हूं और कभी ऐसी समस्याओं का सामना नहीं किया. लेकिन, मैं ऐसे परिवार से हूं जहां मेरे माता-पिता न केवल रोजाना के कामों में व्यस्त रहते हैं बल्कि अखबार भी पढ़ते हैं और समाज की वास्तविकताओं से अच्छी तरह परिचित हैं.”

भूमि ने बताया कि शूटिंग के दौरान वह स्थिति को बेहतर से समझ सकीं.

उन्होंने कहा, “सभी लोगों की तरह मैं भी सोचती थी कि शायद सरकार कुछ खास नहीं कर रही है. लेकिन मैं यह नहीं समझती थी कि यह एक बनी बनाई धारणा और मानसिक सोच है कि सरकार द्वारा बनाए गए शौचालयों के इस्तेमाल से लोगों को रोकती है.”

भूमि के मुताबिक, फिल्म में वह जया की भूमिका से बतौर एक महिला जुड़ाव महसूस करती हैं. जया जैसी देश में कितनी ही महिलाएं हैं जो रोजाना इस तरह की समस्या (खुले में शौच) से जूझ रही हैं.

‘टॉटलेट – एक प्रेम कथा’ 11 अगस्त को रिलीज होगी.