रविवार को खत्म हुआ आईफा अवॉर्ड एक बाद एक खबरों में छाया रहा. पहले तो आईफा में पहुंचे सितारों के कारण दूसरे मंच पर करण जौहर, सैफ अली खान और वरुण धवन के परिवारवाद पर की गई टिप्पणी ने खूब हल्ला मचाया. जिसके बाद सेंसर बोर्ड के चेयरमैन पहलाज निहलानी ने आईफा पर जमकर हमला बोला है. पहलाज के मुताबिक आईफा इसे इंडियन सिनेमा का जश्न मानते है जबकि ‘दंगल और एयरलिफ्ट जैसी फिल्मों के लिए आमिर खान और अक्षय कुमार को नॉमिनेशन तक नहीं मिलता. पहलाज के हमले के बाद अब आईफा के आयोजकों की तरफ से सफाई जारी की गई हैं.

आईफा के आयोजक की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि दंगल को नॉमिनेट करने के लिए उनके मेकर्स की तरफ से कोई एंट्री नहीं भेजी गई थी. दरअसल आईफा में विभिन्न प्रोडक्शन हाउसों को फॉर्म भेजे जाते हैं. वे उन फॉर्म्स को भरकर हमें वापस भेजते हैं. उसके बाद उन पर उद्योग से वोटिंग कराई जाती है, जिसके बाद चुनी हुई प्रविष्टियां नामांकन बनती हैं.लेकिन दंगल’ के मेकर्स की तरफ से आईफा के लिए एंट्री नहीं भेजी गई. यह भी पढ़े: आमिर और अक्षय के कारण आईफा पर भड़के पहलाज निहलानी

आईफा के आयोजकों का मानना है कि हमें ‘दंगल’ को इसका हिस्सा बनाकर खुशी होती. यह एक ऐसी फिल्म है, जिसने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. हमें आमिर खान और दोनों लड़कियां बेहद पसंद हैं. उन्होंने शानदार काम किया. लेकिन दुर्भाग्य से उन्होंने अपनी प्रविष्टि नहीं भेजी. हमें इसका दुख है.”

‘दंगल’ ने बॉक्स ऑफिस पर शानदार प्रदर्शन किया था और चीन में भारतीय सिनेमा में नए रिकॉर्ड कायम किए थे.

आईएएनएस से इनपुट लेकर