नई दिल्ली: बॉलीवुड की दुनिया का वो सितारा जिसने अपनी रौशनी से पूरे देश को जगमगाया था. सिनेमा का एक ऐसा स्तंभ जिसने हर कदम पर अदाकारी की एक नई मिसाल कायम की. इरफ़ान खान नाम का वो ध्रुव तारा आज इस जहां से ओझल हो गया. लंबे वक़्त से अपनी सेहत से लड़ रहे इरफ़ान ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया. इस अभिनेता का मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में कोलन इनफेक्शन (Colon infection) के चलते आज निधन हो गया. लेकिन इस हादसे के पीछे की एक और वजह सामने आई है.Also Read - इरफान खान का ये सपना रह गया अधूरा, बेटे Ayan की फोटो शेयर कर पत्नी सुतापा ने किया खुलासा

इस वक़्त पूरा देश कोरोना संकट की वजह से लॉकडाउन के माहौल में है. पिछले दिनों जब देश के कई राज्यों से प्रवासी मजदूर अपने गांव रवाना हो रहे थे तब कई हस्तियों ने अपने मदद के हाथ आगे बढ़ाए हैं. इसी सिलसिले में मशहूर एक्टर इरफान खान ने ऐलान किया था कि वह लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के साथ हुए व्यवहार के पश्चाताप में 10 अप्रैल को 12 घंटों का व्रत रखेंगे. बता दें कि इस दौरान भी इरफ़ान अपनी तबियत से जूझ रहे थे. Also Read - इरफान खान पुण्यतिथि: दूधवाले की बेटी से मोहब्बत कर बैठे थे इरफान खान, चाणक्य बनकर शुरू किया था सफर

Also Read - इरफान खान जन्मतिथि: टीवी के चाणक्य बनकर Irrfan Khan ने शुरू किया था एक्टिंग का सफर, हॉलीवुड तक बनाई पहचान

इरफान ने ट्वीट कर लिखा था कि हमनें माइग्रेंट मजदूरों के साथ लॉकडाउन के दौरान जो व्यवहार किया है उसके पश्चाताप के लिए वे व्रत रखेंगे. कितनी अजीब बात है न वो अभिनेता जिसने हर कदम पर चुनौतियों का सामना किया आज हम सब की आंखों से दूर हो गया.