इरफान खान न्‍यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर से पीड़ित हैं. इस वक्त इलाज के लिए वे विदेश में हैं. इरफान की बीमारी के बारे से पूरे बॉलीवुड में उदासी की लहर है और हर कोई उनके जल्दी ठीक होकर वापस लौटने की कामना कर रहा है. इरफान एक जुझारू किस्म के इंसान हैं. उन्होंने कहा है कि वे एक योद्धा की तरह इस बुरे वक्त का सामना करेंगे और जल्द ठीक होकर लौटेंगे. विदेश जाने के बाद इरफान ने एक कविता के साथ अपनी फोटो को इंस्टाग्राम पर शेयर किया है. भगवान हमारे साथ चलता है. वह धीमी आवाज में हमसे बात करता है. वह एक लौ की तरह है जो जिसकी परछाई के नीचे आप चलते हैं. जिंदगी में जो भी हो रहा है हो जाने दो. वो खूबसूरती हो या फिर डर. अच्छा हो या बुरा. कुछ भी आखिरी नहीं है. बस चलते रहे क्योंकि इसके पास ही एक जगह है जिसे जिंदगी कहते हैं. आप इसे अपनी गंभीरता से समझ पाएंगे. मुझे अपना हाथ दो…. यहां देखें पोस्ट- Also Read - गुलाबों से सजी है इरफान खान की कब्र, बेटे बाबिल ने शेयर की तस्वीर

God speaks to each of us as he makes us, then walks with us silently out of the night. These are the words we dimly hear: You, sent out beyond your recall, go to the limits of your longing. Embody me. Flare up like a flame and make big shadows I can move in. Let everything happen to you: beauty and terror. Just keep going. No feeling is final. Don’t let yourself lose me. Nearby is the country they call life. You will know it by its seriousness. Give me your hand #rainermariarilke Also Read - इरफान खान और राधिक मदान में था एक अजीब सा रिश्ता, उस एक शब्द ने जिंदगी बदल दी

A post shared by Irrfan (@irrfan) on Also Read - इरफान खान के बेटे बाबिल ने किया पिता को याद, पुरानी फोटो शेयर कर लिखा, 'उन्हें बारिश की अजीब समझ थी'

जानें क्‍या है न्‍यूरोएंडोक्राइन
यशोदा हॉस्‍प‍िटल के सीनियर कंसल्‍टेंटेस पलमोनोलॉलिस्‍ट और गैलेक्‍सी हॉस्‍प‍िटल के मैनेजिंग डायरेक्‍टर डॉ. केके पांडेय ने बताया कि बॉलीवुड के दिग्‍गज अभिनेता इराफ को जो बीमारी हुई है, वह दरअसल एक तरह का कैंसर है, जो अध‍िकांश पेट या फेफड़ों में होता है.एंडोक्राइन कैंसर एक प्रकार क ट्यूमर है, जो शरीर के किसी भी भाग में हो सकता है. यह ट्यूमर हॉर्मोन बढ़ाने वाले सेल्स के साथ शरीर में फैलता है. सेल्स बढ़ने के साथ ही एंडोक्राइन ट्यूमर कैंसर भी शरीर में तेजी से फैलता है.

ट्यूमर से पीड़‍ित हैं इरफान

क्‍या इसका भारत में इलाज है संभव?
डॉ. केके पांडेय ने कहा कि भारत में कैंसर का इलाज संभव है. लेकिन न्‍यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर का इलाज इस बात पर निर्भर करता है कि यह किस स्‍टेज में है. शुरुआती स्‍टेज में ही यदि इस बीमारी का पता चल जाए तो इसका इलाज आसान होगा. लेकिन आखिरी स्‍टेज में इसे ठीक किया जाना अक्‍सर संभव नहीं हो पाता.

irrfan-khan

इरफान खान की बीवी को है भरोसा, जीत कर आएगा उनका ‘योद्धा’

इरफान की पत्नी सुतपा ने कहा कि मैं भगवान और अपने साथी की आभारी हूं कि उसने मुझे योद्धा बनाया है. मेरा ध्यान अभी युद्ध मैदान की रणनीति तय करने पर है, जिसे मुझे जीतना है. यह कभी आसान नहीं था और न आसान होने जा रहा है लेकिन परिवार, दोस्तों और इरफान के प्रशंसकों की आशा और विश्वास ने मुझे सिर्फ आशावादी बनाया है और मैं जीत मिलने को लेकर आत्मविश्वासी हूं.अभिनेता इरफान खान की पत्नी सुतपा सिकदर ने कहा कि उनके जुझारू पति बीमारी से उबरने की राह में आने वाली हर बाधा का सामना कर रहे हैं और ऐसी उम्मीद है कि वह इस संघर्ष में एक विजेता की तरह उभरकर सामने आएंगे.