मुंबई: बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर ने मंगलवार को कहा कि अपने ‘हाई प्रोफाइल’ मिजाज के कारण हिंदी सिनेमा उद्योग जांच के दायरे में है और उसे इसकी ‘कीमत’ चुकानी पड़ती है. अख्तर ने कहा कि सुपरस्टर के बेटे के मामले को एक बंदरगाह से ‘एक अरब डॉलर’ कीमत की मादक पदार्थ बरामदगी मामले के मुकाबले ज्यादा तव्वजो मिली. यह पूछने पर कि क्या उन्हें लगता है कि शाहरुख खान और आर्यन खान को निशाना बनाया जा रहा है, अख्तर ने विस्तार से कुछ कहने से इंकार कर दिया.Also Read - Omicron Cases Update: अब महाराष्‍ट्र में मिला ओमीक्रोन का नया केस, देश में अब तक कुल 4 केस

जावेद अख़्तर ने कहा, एक पोर्ट पर आपको एक बिलियन डॉलर की कोकीन मिलती है और एक जगह पर 1,200 आदमी थे, वहां 1,30,000 रुपए की चरस, गांजा मिलती है. वह एक राष्ट्रीय खबर बन गई. मैंने तो कभी एबिलियन डॉलर कोकीन के बारे में हेडलाइन देखी ही नहीं. उसकी खबर अखबार के पांचवें, छठे पन्ने पर आती है. Also Read - गुजरात में ‘ओमीक्रोन’ वेरिएंट का पहला मामला सामने आया, जिम्बाब्वे से लौटा व्यक्ति जामनगर में पाया गया संक्रमित

जावेद अख्तर का यह बयान ऐसे समय आया है जब मादक पदार्थों की कथित जब्ती के संबंध में सुपरस्टार शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी को लेकर बॉलीवुड और इसके सेलिब्रेटी संस्कृति पर फिर से लोगों का ध्यान गया है. Also Read - Vicky-Kat Wedding Plan: विकी कौशल और कैटरीना कैफ की शादी की तैयारियां हुईं शुरू, इस दिन होगी मेंहदी और संगीत की रस्में | Watch Video

सोशल मीडिया पर आवाज उठाने वाले ऐसे कई लोग हैं, जिनका मानना है कि आर्यन खान के खिलाफ यह मामला सिर्फ फिल्मी जगत को निशाना बनाने के लक्ष्य से दर्ज किया गया है. यह पूछने पर कि क्या उन्हें ऐसा लगता है कि बॉलीवुड को लगातार निशाना बनाया जा रहा है, अख्तर ने मीडियाकर्मियों से कहा, ”फिल्मी जगत को हाई प्रोफाइल होने के नाते यह कीमत चुकानी पड़ती है. जब आप हाई प्रोफाइल होते हैं तो, लोगों को आपको नीचे गिराने और आप पर कीचड़ उछालने में मजा आता है. अगर आपको कोई नहीं जानता, तो आप पर पत्थर उछालने का किसी के पास वक्त नहीं है?”

लेखकों अल्मस विरानी और श्वेता समोता की पुस्तक ‘चेंजमेकर्स’ के विमोचन पर अख्तर ने यह बातें कहीं.

बता दें कि आर्यन खान (23) को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने तीन अक्टूबर को मुंबई गिरफ्तार किया था. नाम लिए बगैर अख्तर ने कहा कि सुपरस्टर के बेटे के मामले को एक बंदरगाह से ‘एक अरब डॉलर’ कीमत की मादक पदार्थ बरामदगी मामले के मुकाबले ज्यादा तव्वजो मिली. वह गुजरात के कच्छ जिले में स्थित मुंद्रा बंदरगाह से 2,988 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती के संदर्भ में बोल रहे थे. (इनपुट पीटीाआई भाषा)